Breaking News

गिद्धौर PHC में टीकाकरण के दौरान भीड़ नियंत्रण करने में हाफ रहा प्रबन्धन



【न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-


एक ओर जहां देश की दहलीज पर कोरोना डेल्टा वेरिएंट के दस्तक देने की आहट सुनाई देने लगी है , वहीं, इससे निपटने में सावधानी के बजाय लापरवाही का मंजर सर्वत्र पसरा है। गिद्धौर पीएचसी की ये तस्वीरें भी इस लापरवाही का ही एक उदाहरण है जो संक्रमण के दृष्टिकोण से प्रबंधन की कार्यकुशलता को सवालों के कठघरे में खड़ा कर दिया है। 

बुधवार को अस्पताल परिसर में वैक्सीनेशन के लिए उमड़ी भीड़ में कोरोना प्रोटोकोल को तार तार करने वाली तस्वीर सामने आई, जहां एक साथ केन्द्र में प्रवेश कर चुके वैक्सीन लेने आये युवाओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया। 

आलम ये रहा कि शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए गिद्धौर के इस टीकाकरण केन्द्र पर न तो किसी अधिकारी की तैनाती की गई थी और न ही भीड़ नियंत्रण करने कर दिशा में कामगार पहल किये गए। टीकाकरण स्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि अस्पताल प्रबन्धन द्वारा समुचित व्यवस्था न कायम करने पर धक्का-मुक्की की नोबत आ जाती है, और इस दौरान वैक्सीनेशन में सोशल डिस्टनसिंग का ख्याल नहीं रखा जाता।एमओआईसी द्वारा कोई ठोस पहल न किये जाने से ऐसी स्थिति आम हो गई है।

यूं तो बुधवार को हुए वैक्सीनेशन के दौरान फर्स्ट डोज़ और सेकंड डोज़ लेने वाले लोगों को वर्गीकृत करने का प्रयास किया गया पर भीड़ नियंत्रण के दिशा में नतीज़ा सिफ़र ही रहा है। 

इस संदर्भ में अस्पताल प्रबंधन का पक्ष जानने के लिए जब प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अज़ीमा निशात के मोबाइल नम्बर 8864008133 पर सम्पर्क करने की कोशिश की गई तो उन्हे फोन उठाना मुनासिब नहीं लगा।

गौरतलब है कि, कोरोना के अगले लहर से बचने के लिए जहां वैक्सीन और कोविड नियमों को व्यबहार में लाने की अनिवार्यता बिहार सरकार द्वारा भी रखी गई है, वहीं, ऐसे कुव्यवस्था के बीच लापरवाही का ये मंजर संक्रमण काल मे घातक सिद्ध हो सकता है।


#Gidhaur, #Health, #GidhaurDotCom