Header Ad

header ads

गिद्धौर के टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ नियंत्रण करने में हाफ रहा प्रबन्धन, विफ़ल हुए C.O के प्रयास

 


Gidhaur / गिद्धौर (अभिषेक कुमार झा) :- देश में कोरोना वायरस (Covid19) की दूसरी लहर के विनाशकारी प्रभावों के बीच विशेषज्ञों ने महामारी के डेल्टा वेरिएंट (Delta Varient) की आशंका जताई है। साथ ही आगाह किया है कि अगर लोग कोविड नियमों का पालन करते हुए आबादी के बड़े हिस्से को कोविड-19 रोधी टीका लगा दिया जाए, तो अगली लहर अपेक्षाकृत कम गंभीर हो सकती है। कन्या मध्य विद्यालय गिद्धौर (Kanya Madhya Vidyalay Gidhaur) में बनाये गए टीकाकरण केंद्र पर सोमवार को कोरोना (Corona Protocol) प्रोटोकोल को तार तार करने वाली तस्वीर सामने आई। जहां एक साथ केन्द्र में प्रवेश कर चुके वैक्सीन लेने आये युवाओं ने सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन नहीं किया। 

आलम ये रहा कि शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए गिद्धौर के इस टीकाकरण केन्द्र पर न तो किसी अधिकारी की तैनाती की गई थी और न ही भीड़ नियंत्रण करने कर दिशा में कामगार पहल किये गए। टीकाकरण स्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि अस्पताल प्रबन्धन द्वारा समुचित व्यवस्था न कायम करने पर धक्का-मुक्की की नोबत आ जाती है, और इस दौरान वैक्सीनेशन (Vaccination) में सोशल डिस्टनसिंग का ख्याल नहीं रखा जाता। 

खैर, मामला जो भी रहा हो, बीते दिन से जिले में बढ़ रहे कोरोना संक्रमित के मामलें और गिद्धौर पीएचसी (Gidhaur PHC) अस्पताल प्रबंधन के इस कुव्यवस्था में कोरोना से जंग कैसे जीती जाएगी, लोगों के मन में ये यक्ष प्रश्न के बना है।

ज्ञात हो, बीते 22 मई को गिद्धौर के इस टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण करते हुए अंचलाधिकारी रीता कुमारी (Gidhaur C O Rita Kumari) ने स्वास्थ्य कर्मियों को भीड़ नियंत्रण को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये थे। पर उसके लगातार बाद से लेकर सोमवार को उक्त टीकाकरण स्थल पर भीड़ नियंत्रण को लेकर समुचित प्रबन्ध नहीं किये गए थे।