Breaking News

खैरा थाना ने दिखाई संवेदनहीनता, जवान को सलामी तक देने नहीं पहुंचे थानाध्यक्ष

 


Khaira / खैरा (प्रहलाद कुमार) :- सीआईएसएफ के जवान धीरज कुमार की शहादत के बाद खैरा थाना पुलिस की बड़ी संवेदनहीनता सामने आई है. बताते चलें कि शुक्रवार को जवान का पार्थिव शरीर खैरा लाया गया, जहां से सर्वप्रथम उसे खैरा थाना में रखा गया. जहां से उसके पार्थिव शरीर को पकरी ले जाया गया. लेकिन इस दौरान खैरा पुलिस के द्वारा बड़ी संवेदनहीनता की गई. बताते चलें कि इस पूरे मामले में खैरा थानाध्यक्ष ने जवान के घर तक जाना भी उचित नहीं समझा. बताते चलें कि खैरा पुलिस ने केवल खानापूर्ति के लिए वहां एक दरोगा को भेज दिया, पर जवान के सम्मान में थानाध्यक्ष ने वहां जाने तक की जहमत नहीं उठाई. ऐसे में देश के वीर सपूत को खोने के गम में डूबे लोगों ने इसे पुलिस की संवेदनहीनता बताया है. लोगों ने कहा कि खैरा पुलिस देश के जवानों की इज्जत तक करना नहीं जानती. एक जवान जहां तिरंगे में लिपटकर शहादत लेकर अपने पैतृक आवास पहुंचा, तो वहीं थाना के पदाधिकारी इतने बड़े हो गए कि उनकी शहादत पर सर झुकाने तक नहीं पहुंचे. लोगों ने कहा कि कुछ यही हाल प्रखंड क्षेत्र के अन्य शहीद सुनील कुमार मुर्मू का भी है. जहां उनकी शहादत दिवस के मौके पर पुलिस या जिला का कोई भी पदाधिकारी उनके गांव तक नहीं जाता और अब यही हाल धीरज कुमार की शहादत का भी बनाया जा रहा है.