गिद्धौर : धोबघट पहुंची SAI की टीम, सेन्टर निर्माण के लिए किया स्थलीय निरीक्षण - gidhaur.com : Gidhaur - गिद्धौर - Gidhaur News - Bihar - Jamui - जमुई - Jamui Samachar - जमुई समाचार

Breaking

A venture of Aryavarta Media

Post Top Ad

Post Top Ad

Sunday, 20 June 2021

गिद्धौर : धोबघट पहुंची SAI की टीम, सेन्टर निर्माण के लिए किया स्थलीय निरीक्षण

 【न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :- 

बर्नार नदी के कछार पर खेलकूद का साम्राज्य स्थापित करने की योजना अब फलीभूत होती नजर आ रही है। स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ट्रेनिंग सेंटर कोलकाता की टीम द्वारा स्थलीय निरीक्षण ने इस संभावना की तस्दीक कर दी है। रविवार को गिद्धौर प्रखंड के कोल्हुआ पंचायत अन्तर्गत धोबघट गांव में जमुई विधायक श्रेयसी सिंह के साथ निरीक्षण के लिए उक्त टीम के पहुंचते ही ग्रामीणों के मुरझाए चेहरे खिल उठे।

स्थल पर मौजूद एमएलए श्रेयसी सिंह  ◆ gidhaur.com
दरअसल, क्षेत्र में खेल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्थानीय ग्रामीणों द्वारा दान की गई लगभग 20 एकड़ भूमि दशकों से उपेक्षित थी। ग्रामीणों के इस स्थल को राष्ट्रीय मापदण्डों पर विकसित करने के उद्देश्य से स्थल का मुआयना करने पहुंची निरीक्षक टीम के शंकर घोष और आतनु मजुमदार ने प्रक्रियाओं को पूरा करते हुए पूरी वस्तु स्थिति से अवगत हुए।


वहीं, मौजूद जमुई विधायक श्रेयसी सिंह ने बताया कि यह टीम केंद्रीय खेल मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी, जिससे इस स्थल पर खिलाड़ियों के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया ट्रेनिंग सेंटर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने बताया कि अपने पिता पूर्व केन्द्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह के पहल को केंद्रीय खेल मंत्रालय के सहयोग से अंजाम तक पहुंचाने के लिए वे प्रतिबद्ध हैं। 



निरीक्षण करती स्पोर्ट्स ऑथोरिटी टीम व एमएलए श्रेयसी सिंह। ◆ gidhaur.com

ज्ञात हो, वर्ष 2004 में पूर्व के द्रिय मंत्री दिग्विजय सिंह के पहल पर स्पोर्ट्स अथॉरिटी ओफ इण्डिया, ने 2008 में धोबघट के उक्त स्थल पर अपना एक केन्द्र खोलने की बात कही थी, जिसके बाद से स्थानीय ग्रामीणों ने लगभग 20 एकड़ जमीन दान में दी थी, पर इतने वर्ष बीत जाने बाद भी जमीन पर किसी भी प्रकार के कार्य न होने से ग्रामीण उपेक्षित थे। वहीं, अपने पिता के ख्वाब को मुकम्मल करने एवं खेलकूद को बढ़ावा देने के लिए एक बार फ़िर जमुई विधायक श्रेयसी सिंह ने तत्परता दिखाई है, जिसके बाद से निर्माण के आस में खाली पड़े उक्त जमीन का कोलकाता से आए निरीक्षण टीम द्वारा सफल व गंभीरतापूर्वक निरीक्षण करने के बाद ग्रामीणों में उम्मीद की किरण जगी है।

Post Top Ad