Breaking News

गिद्धौर PHC पहुंचे सिविल सर्जन, स्वास्थ्यकर्मियों को दिए डेटाबेस तैयार करने के निर्देश

 

न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

कोरोना के दूसरे लहर में बढ़ते केस के बीच स्वास्थ्य विभाग ने कई चुनौतियों का सामना किया है। ऐसे में कोविड से जान गंवाने वाले लोगों पर भी विभाग संवेदनापूर्वक विचार कर रही है। कोविड से मरने के उपरांत मुआवजा स्वरूप परिजनों को 4 लाख रुपये मिलने की सरकारी घोषणा ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यों का स्तर बढ़ा दिया है।

गिद्धौर पीएचसी में बैठक करते सीएस  ◆ gidhaur.com

इसी को लेकर गिद्धौर स्थित दिग्विजय सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में मंगलवार को सिविल सर्जन डॉ. विनय कुमार शर्मा ने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ बैठक कर उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दिए । इस दौरान उन्होंने बीसीएम, बीएचएम को इस दिशा में जारी किए गए विभागीय निर्देशों पर कार्यों के निष्पादन की बात कही । सीएस ने कोरोना से जान गंवाने वालों के डेटा बेस तैयार करने के भी निर्देश देते हुए निर्धारित समय पर रिपोर्ट सौंपने की बात कही है। बैठक के दौरान सिविल सर्जन डॉ. शर्मा ने स्वास्थ्यकर्मीयों से टीकाकारण, कोविड जांच समेत अन्य विभागीय गतिविधियों की जानकारियाँ प्राप्त करते हुए टीकाकरण अभियान को गति देने पर बल दिया। 

मौके पर केयर इंडिया के जिला टीम लीडर संजय कु. सिंह, गिद्धौर पीएचसी के बीएचएम प्रियदर्शनी कुमारी, बीसीएम निधि कुमार, फ़र्माशिष्ट शशिभूषण प्रसाद, लेखापाल अमित कुमार सिंह, समेत अन्य स्वास्थ्यकर्मी मौजूद रहे।