Header Ad

header ads

गिद्धौर : सेवा गांव में देर रात तक गूंजते DJ के शोर पर कार्रवाई नहीं, सरकारी फ़रमान बनी औपचारिकता

 

【 न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :- सरकार द्वारा लागू किया गया लॉकडाउन के विभिन्न नियमों की सख्ती से पालन करने को लेकर एक ओर जहां जिला प्रशासन को निर्देश जारी किए गए हैं, वही धरातल पर इन निर्देशों पर कार्रवाई महज औपचारिकत साबित हो रही है। इसकी बानगी गिद्धौर प्रखंड के सुदूर इलाकों में देखी जा रही है । इसका ताजा उदाहरण वीडियो के रूप में सेवा पंचायत से सामने आया है। जहां डीजे के धुन पर थिरकते कुछ युवा सरकारी नियमों का मख़ौल उड़ाने से बाज नहीं आ रहे है। आलम यह है कि इस महामारी पर काबू पाने के लिए सरकार के द्वारा लाए गए गाइड लाइन को लोग अश्लील भरे डीजे गीत पर थिरकते हुए अपने पैरों तले रौंदते देखे जा रहे हैं। 


वीडियो गिद्धौर प्रखण्ड क्षेत्र के निचली सेवा गांव का बताया जाता है, जहां आर्यन डीजे तमाम प्रशासनिक निर्देशों को ताख पर रख सरकारी फ़रमान को धत्ता बताते हुए जमकर कर कोरोना प्रोटॉकल की धज्जियां उड़ाई । ग्रामीणों ने बताया कि लॉकडाउन के अवधि तक शादी विवाह व अन्य सामाजिक मौके पर पाबंदी के बाद भी डीजे का शोर कम नहीं हुआ।  


वहीं, सरकारी आदेशों के उलंघन पर कार्रवाई न होने से यह सिलिसला बदस्तूर जारी है। ग्रामीणों ने यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी किया है। वायरल हुई इस विडियो में दिखाए गए भीड़ द्वारा मास्क, सोशल डिस्टनसिंग व कोरोना के अन्य प्रोटॉकल को तार तार करने की भी तस्दीक की गई है ।