Header Ad

header ads

गिद्धौर : नियमों को ताख पर रख हुआ टीकाकरण, भीड़ रोकने में विभाग विफल

 【न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा :-

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के विनाशकारी प्रभावों के बीच विशेषज्ञों ने महामारी की तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। साथ ही आगाह किया है कि अगर लोग कोविड नियमों का पालन करें और आबादी के बड़े हिस्से को कोविड-19 रोधी टीका लगा दिया जाए, तो अगली लहर अपेक्षाकृत कम गंभीर हो सकती है। इस सब दावों से परे कन्या मध्य विद्यालय गिद्धौर में बनाये गए टीकाकरण केंद्र पर मंगलवार को कोरोना प्रोटोकोल को तार तार करने वाली तस्वीर सामने आई, जहां राहत का ये टीका आफत का टीका बन सकता है। 

टीकाकरण केंद्र पर जुटी भीड़  ◆ gidhaur.com

उक्त केंद्र पर एक साथ प्रवेश कर चुके वैक्सीन लेने वाले युवाओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया। शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए गिद्धौर थाना के एक अधिकारी की भी तैनाती उक्त केंद्र पर की गई थी, पर भीड़ नियंत्रित करने में वे भी नाकाफ़ी साबित हो रहे थे। टीकाकरण स्थल पर मौजूद लोगों ने नाम न छापने के शर्त पर बताया कि अस्पताल प्रबन्धन द्वारा समुचित व्यवस्था न कायम करने पर नंबर लगाने के लिए धक्का-मुक्की की नोबत आ जाती है। वैक्सीन लेने वाले को न तो कतारबद्ध किया जाता है और न ही इस दिशा में सख्ती बरती जाती है। वैक्सीन लेने वाले में से यदि एक भी व्यक्ति पॉजिटिव हुए तो यह वैक्सीनेशन केंद्र संक्रमण केंद्र बन जायेगा। 

- अंचलाधिकारी के निर्देश का नहीं हो रहा पालन - 

बीते 22 मई को गिद्धौर के इस टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण करते हुए अंचलाधिकारी रीता कुमारी ने स्वास्थ्य कर्मियों को भीड़ नियंत्रण को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिये थे। पर उसके लगातार बाद से लेकर मंगलवार तक टीकाकरण स्थल पर भीड़ नियंत्रण को लेकर समुचित प्रबन्ध नहीं किये गए थे। 

टीकाकरण केन्द्र पर झड़प - 

गिद्धौर के उक्त टीकाकरण केन्द्र पर वैक्सीनेशन को लेकर समुचित व्यवस्था न होने से दो पक्षों में झड़प की भी सूचना प्राप्त हुई। मंगलवार को केंद्र पर काफी देर तक नोक झोंक का भी सिलसिला चलता रहा। ऐसे में लोगों की भीड़ उस स्थल पर जमा हो गई। बताया जाता है कि केंद्र के बाहर बाइक पार्किंग को लेकर स्थानीय दो युवक आपस में उलझ पड़े। देखते देखते ये तू तू मैं मैं झड़प में तब्दील हो गई। वहीं, लोगों के सामूहिक प्रयास से इस नोक झोंक के मामले को सुलझाया गया। 


- बोले जिम्मेदार -

"प्रशाशन द्वारा भीड़ नियंत्रण के लिए हर सम्भव प्रयास किये जाते हैं। अस्पताल प्रबंधन भी सजग है। आगे से भीड़ बढ़ती है तो सोशल डिस्टनसिंग पालन कराने पर जोर दिया जाएगा। "

     - डॉ. अज़ीमा निशात, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी,

दिग्विजय सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, गिद्धौर