बड़ी खबरें

गिद्धौर : मौरा में ग्राम सभा आयोजित, आवास योजना पर भड़के ग्रामीण

न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

जन कल्याणकारी योजनाओं के संधारण को ले प्रखण्ड के मौरा पंचायत में कार्य योजना 20-21 को लेकर मुखिया कांता प्रसाद सिंह की अगुवाई में गुरुवार को ग्राम सभा का आयोजन किया गया। 

सभा को सम्बोधित करते मुखिया

आयोजित ग्राम सभा में सर्वप्रथम प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के कार्यालय पत्रांक 65 के आलोक में पीएम आवास योजना से जुड़े योग्य एवं अयोग्य अभ्यर्थी के चयन हेतु गहन विचार विमर्श किया गया। वहीं, बैठक के दौरान क्षेत्र मे चल रहे विकास योजनाओं से सम्बंधित योजनओं की चर्चा की गई। 

मुखिया से जवाब तलब करते ग्रामीण

वहीं, बैठक के दौरान ग्राम सभा मे कई ग्रामीणों ने पीएम आवास योजना में धांधली का आरोप लगाया। ग्रामीणों ने बताया कि रिमांड से पूर्व, आवास सहायक के द्वारा 100 फीसदी आवास योजना के लिए आवेदित लाभुकों के चयन की बात कही गयी थी, लेकिन सूची में नाम दर्ज रहने के बावजूद भी कई ग्रामीण अब तक पीएम आवास योजना से वंचित हैं। कुछ ग्रामीणों ने बताया है कि मौरा पंचायत के आवास सहायक द्वारा सर्वेक्षण के बाद नजराने की मांग करते हैं, साथ ही हमारे आवेदन को मुखिया के समक्ष अयोग्य ठहराया जा रहा है। इस पेंच में हमलोगों का आवास अब तक अधर में है। ग्रामीणों ने पंचायत में क्रियान्वित सरकारी योजना में व्याप्त अनियमितता पर पंचायत के मुखिया को घेरते हुए अपनी भड़ास निकाली। वहीं, पीएम आवास योजना व राशन कार्ड सम्बन्धित समस्या पर भी ग्रामीण आक्रोशित नजर आए। 


विरोध करती महिलाएं

इधर, समाचार संकलन के दौरान आवास सहायक व तथाकथित तौर पर बिचौलियों ने कवरेज कर रहे पत्रकारों के साथ बकझक भी हुई, जो समाचार लिखे जाने तक जारी रहा। आवास योजना में चल रहे झलमेल को उजागर न करने के लिए अप्रत्यक्ष तौर पर  पत्रकार को उक्त सार्वजनिक  स्थल पर धमकी भी दे दी गई। अनियमितताओं को लेकर हंगामेदार रहे इस ग्राम सभा में ग्रामीण सरयुग यादव, नवल किशोर यादव, नारायण यादव, नीति मुकेश, अनिल रावत, रंजय रावत, गांधारी मांझी, बिशुन ठाकुर , पंचायत सचिव मनोज सिंह, आवास सहयक गोपाल कुमार सहित सम्बन्धित विभागीय कर्मी  के अलावे बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। जबकि मौरा पंचायत के कई ग्रामीण इस ग्राम सभा के आयोजन से खुद को अंजान बताया है।

No comments