बड़ी खबरें

गिद्धौर : बानाडीह गांव में RJD नेता ने किया जनसम्पर्क, मानव श्रृंखला में भागीदारी की अपील

 【न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

केन्द्र सरकार द्वारा पारित नए कृषि कानूनों  ने बिहार में विपक्षियों के राजनीतिक संभावनाओं को प्रभावित किया है। बावजूद इसके विपक्षी दलों के हौसले बुलंद नजर आ रहे हैं। ऐसे में इस कृषि कानून के विरोध में महागठबंधन में शामिल राजद, कांग्रेस समेत अन्य सभी घटक दल इस मुद्दे पर मानव शृंखला बनाने की तैयारी में हैं। इसी को लेकर गिद्धौर प्रखण्ड क्षेत्र के रतनपुर पंचायत अंतर्गत बानाडीह गांव में पूर्व प्रत्याशी राजेन्द्र यादव ने स्थानीय किसानो से जनसम्पर्क किया।



उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों का आलोचना करते हुए कहा कि कृषि कानून लागू होने के बाद किसानों की हालत पतली हो जाएगी। पहले से ही किसान परेशान हैं। नई कृषि कानून से उनकी परेशानी में इज़ाफ़ा होगा। उन्होंने किसानों को आह्वान करते हुए कहा कि महात्मा गांधी के शहादत दिवस पर आगामी 30 जनवरी को किसानों के समर्थन में महागठबंधन समर्थक मानव शृंखला का निर्माण करेंगे।  इसके लिए राजद नेता श्री यादव ने कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करते हुए दो मीटर की दूरी बनाकर खड़ा होने की अपील किसानों से की है।



जनसंर्पक में शामिल कांग्रेस नेता धर्मदेव यादव ने किसानों के बीच इस विरोध को अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए रणनीति बनाई। उन्होंने कहा कि सरकार ने तीन काला कानून जबरन किसानों के कंधों पर सौंप दिया है। महागठबंधन के शीर्ष नेताओं ने यह तय किया है कि इस कानून के विरोध में मानव श्रृंखला का निर्माण होगा। उन्होंने किसानों की आवाज़ को बुलंद करते हुए कहा कि सरकार इस कानून को रद्द करके किसानों की फसल के कीमत की कानूनी गारण्टी तय हो। इसके साथ ही किसानों की उपज न्यूनतम समर्थन दर पर प्राप्त हो।
इस जनसम्पर्क के दौरान बानाडीह, सोहजना, रतनपुर आदि गांवों के किसान मौजूद रहे।

No comments