Header Ad

header ads

गिद्धौर : कृषि विभाग ने पीएम जीवंत प्रसारण कार्यक्रम में की खानापूर्ती, किसान उपेक्षित

न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

कृषि प्रोद्योगिकी प्रबंध अभिकरण के बैनर तले शुक्रवार को गिद्धौर स्थित ई. किसान भवन मे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत पीएम द्वारा किसानों के खाते में निधि हस्तांतरण के मौके पर जीवंत प्रसारण कार्यक्रम आयोजित की गई। इस दौरान पीएम मोदी द्वारा वित्तिय वर्ष 2020-21 में पीएम किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत किसानों के खाते में निधि का हस्तांतरण किया। इस कार्यक्रम में जहां पीएम किसानों को सौगात दे रहे थे, वहीं विभागीय कर्मियों द्वारा पीएम के इस कार्यक्रम में औपचारिकता का लेप लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।



दीप प्रज्वलित के बाद हुए इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री छह राज्यों के किसानों के साथ संवाद भी किया। प्रधानमंत्री मोदी ने इस जीवंत कार्यक्रम में पीएम-किसान और केंद्र सरकार की अन्य कृषि कल्याण की योजनाओं को लेकर विचारों का भी आदान प्रदान हुआ। कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रखण्ड प्रमुख शम्भू केशरी, भाजपा नेता मनीष पाण्डेय, पूर्व प्रखण्ड प्रमुख श्रवण यादव , पूर्व आत्मा अध्यक्ष नरेश यादव, कर्मी शुभम सिंह, आत्मा के अधिकारी मंगलम, नवीन दास, समन्वयक अवध बिहारी आदि गणमान्य उपस्थित रहे।


[पंचायत के दो फिसदी किसान भी नहीं हो सके कार्यक्रम में सम्मिलित]


किसान के इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम में जहां किसानों की अधिकाधिक उपस्थिति अपेक्षित थी, वहीं कार्यक्रम में आमंत्रित मेहमान व कुछ गैर आमंत्रित रसूखदार कार्यक्रम की शोभा बढ़ा रहे थे। कार्यक्रम में चुनिंदा किसानों की उपस्थिति की पुष्टि भी स्वयं कृषि कार्यालय के कर्मी ने ही की। स्थानीय किसानों ने बताया कि इस तरह के आयोजन में किसानों की उपस्थिति को कागजों में पेश कर कर्मी कागजी खानापूर्ति करने में कोई कसर नहीं छोड़ते।


[पीएम के सम्बोधन से वंचित रह गए कई  किसान]

पीएम के इस कार्यक्रम में किसानों की उपस्थिति सुनिश्चित करने को लेकर विभागीय अधिकारियों व कर्मियों को निर्देशित किया गया था। इसके लिए प्रखण्ड कृषि कार्यालय द्वारा 22/12/2020 को पत्रांक 106 के माध्यम से विभाग के सम्बन्धित अधिकारी, पंचायत प्रतिनिधि के अलावे आत्मा के अध्यक्ष से भी पत्राचार किया गया था। बावजूद इसके किसानों की उपस्थिति को लेकर विभागीय कर्मियों ने संजीदगी नहीं दिखाई। परिणामतः  जरूरतमंद कई कृषक पीएम मोदी के इस लाइव सम्बोधन से वंचित रह गए।




[जिला कृषि पदाधिकारी ने जताई नाराजगी]


इस संदर्भ में gidhaur.com के प्रतिनिधि से हुए बातचीत में जिला कृषि पदाधिकारी संजय कुमार ने बताया कि कार्यक्रम 'आत्मा' के देखरेख में हुआ है। उन्होंने कार्यालय कर्मियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि किसानों के कार्यक्रम में किसानों को जानकारी न दिया जाना चिंताजनक है। गिद्धौर कृषि कार्यालय में कर्मियों की लापरवाही को लेकर कई बार सख्त निर्देश दिए गए है। मामले को लेकर कार्यालय कर्मियों से बात की जाएगी।


[ कार्यक्रम में देर से पहुंचे समन्वयक, किसी ने नहीं ली सूध ]

आयोजित उक्त कार्यक्रम को लेकर जहां 23 दिसम्बर से तैयारियां चल रही थी, और निर्धारित कार्यक्रम में ससमय उपस्थिति के प्रावधान रखे गए थे। वहीँ , इस कार्यक्रम में कृषि कोर्डिनेटर अवध बिहारी स्वयं देर से पहुंचे। उन्होंने gidhaur.com से बातचीत के क्रम में स्वयं देर से आने की बात को स्वीकारा । ज्ञातव्य हो, कार्यक्रम के अलावे भी कर्मियों की लेट लतीफी इस कार्यालय के कर्मियों की आदत में शुमार रही है, जिसकी सुधि लेने वाला कोई नहीं।