बड़ी खबरें

तो क्या पुतुल कुमारी करेंगी बीजेपी में वापसी? पार्टी की तरफ से वापसी का प्रस्ताव! पढ़ लीजिये ये खबर

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui) :
बांका (Banka) लोकसभा की पूर्व सांसद पुतुल कुमारी (Putul Kumari) की भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janata Party) में घर वापसी हो सकती है। ऐसी जानकारी gidhaur.com को मिली है कि वे जल्द ही भाजपा (BJP) में वापसी करने वाली हैं। बता दें कि बांका से सांसद रहे दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के वर्ष 2010 में निधन के बाद हुए उपचुनाव में निर्दलीय जीतकर पुतुल कुमारी संसद तक पहुंची थीं।

जिसके बाद वे भाजपा में शामिल हो गईं। वर्ष 2014 में हुए आम चुनावों में वे भाजपा की प्रत्याशी के तौर पर बांका लोकसभा से चुनावी मैदान में लेकिन हार गईं। इसके बाद वर्ष 2019 में भाजपा ने उनका टिकट काट दिया और बांका लोकसभा सीट जदयू (JDU) के खाते में गया। भाजपा-जदयू गठबंधन होने के बावजूद भी पुतुल कुमारी बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ीं लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी। हालांकि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों में पुतुल कुमारी काफी हद तक अपनी छाप छोड़ने में सफल रहीं।
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) को लेकर राज्य की सियासत तेज है। पुतुल कुमारी भी स्व. दिग्विजय सिंह की राजनीतिक विरासत बचाने की कवायद में लगी हुई हैं। वे 7 सितंबर को गिद्धौर (Giddhaur) पहुंचीं थीं। जहाँ अगले ही दिन यानी 8 सितंबर को लाल कोठी (Lal Kothi) आवास पर बांका के अपने समर्थकों के साथ चुनावी रणनीति को लेकर उन्होंने बैठक की। इस बैठक के बाद यह चर्चाएं तेज हो गई कि पुतुल कुमार राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal) में शामिल हो सकती हैं। बैठक से यह भी बात निकल कर सामने आई कि वे राजद (RJD) से 5 सीटों की डिमांड रख रही हैं। इसके अलावा इस बात की चर्चाएं भी तेज हुई कि उनकी पुत्री अर्जुन अवार्ड विजेता अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज श्रेयसी सिंह (Shreyasi Singh) भी उम्मीदवार हो सकती हैं।

पुतुल कुमारी का बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) और उनकी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (Janata Dal United) से छत्तीस का आंकड़ा है। वर्ष 2009 में स्व. दिग्विजय सिंह का टिकट काटकर जदयू ने बांका से अन्य प्रत्याशी को मैदान में उतारा था, जिसके बाद निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में दिग्विजय सिंह ने चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। उसी प्रकार वर्ष 2019 में बांका से भाजपा ने पुतुल कुमारी का टिकट काटा जो जदयू के खाते में गया। हालांकि इस बार पुतुल कुमारी निर्दलीय चुनाव लड़ीं लेकिन उन्हें आशातीत सफलता नहीं मिली।

8 सितंबर 2020 को गिद्धौर के लाल कोठी में हुए बैठक के बाद जब उनके राजद में जाने की संभावनाओं को बल मिलने लगा तो भाजपा की ओर से सुलह का प्रयास किया गया। इसकी जानकारी gidhaur.com के पास है। 9 सितंबर 2020 को बिहार भाजपा के एक जानेमाने प्रदेश कार्यसमिति सदस्य नेता ने देर शाम लाल कोठी पहुंचकर पुतुल कुमारी से मुलाकात की। हालांकि यह मुलाकात गोपनीय रही, लेकिन इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि इसके पीछे पार्टी के प्रदेश नेतृत्व का ही निर्देश था। उक्त भाजपा नेता ने मुलाकात के दौरान पुतुल कुमारी से भाजपा में वापसी का भी प्रस्ताव रखा। जिसपर पुतुल कुमारी ने उन्हें जल्द ही अपने तरफ से विचार कर बात करने की बात कही।

ऐसे में यह संभावित है पुतुल कुमारी भाजपा में वापसी कर सकती हैं। बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में टिकट कट जाने के बाद भी भाजपा की तरफ से 2020 विधानसभा चुनाव में टिकट देने की बात कही गई थी। लेकिन तब पुतुल कुमारी ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ी थीं। अब स्व. दिग्विजय सिंह एवं पुतुल कुमारी के समर्थक लाल कोठी की ओर टकटकी लगाए हैं कि क्या कुछ निर्णय निकल कर सामने आएगा।

No comments