बड़ी खबरें

झाझा विधानसभा : चुनावी अखाड़े में कूदे प्रत्याशी, चढ़ने लगा सियासी पारा

Jhajha VidhanSabha (धनंजय कुमार 'आमोद') : - झाझा विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आने वाले गिद्धौर के विभिन्न चाय दुकानों पर चुनावी चर्चाएं रफ्तार पकड़ने लगी है। दरअसल, बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) की घोषणा होते ही गिद्धौर लॉर्ड मिंटो टावर (Lord Minto Tower)के इर्द गिर्द और ग्रामीण चौपाल से लेकर चाय की दुकानों पर अब बस चुनाव की ही चर्चा है। ऐसे में झाझा विधानसभा क्षेत्र में संभावित उम्मीदवारों की गतिविधियां भी काफी तेज हो गई है। सभी संभावित उम्मीदवार अपनी पकड़ मजबूत बनाने के इरादे से जनसंपर्क अभियान में जुटे हैं। 


आचार संहिता लागू होने के बाद जनसंपर्क अभियान का दौर भी नेताओं ने बदल लिया है।  इसके अलावे सोशल मीडिया (Social Media) पर भी अपनों के पक्ष में उनके प्रचार प्रसार के बहाने जनता की नब्ज टटोलने का प्रयास भी किया जा रहा है, लेकिन सबसे बड़ी समस्या टिकट को लेकर है। अपने-अपने दल से टिकट लेने में कौन सफल हो पाएगा इसको लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म होने लगा है।

झाझा विधानसभा क्षेत्र में सबसे बड़ी समस्या भारतीय जनता पार्टी (BJP) के समक्ष म आन खड़ी हुई है। जहां वर्तमान विधायक डॉ. रविन्द्र यादव एवं JDU के उम्मीदवार दामोदर रावत एक बार फिर आमने सामने चुनावी अखाड़े में खुद चुके हैं। इनके आलावे नेत्र चिकित्सक डॉ. एन डी मिश्र ने भी झाझा विधानसभा क्षेत्र की आबोहवा को महसूस कर अपनी गतिविधियों को तेज कर दिया है। वहीं , राजद उम्मीदवार कौन होगा, इसका जवाब फिलहाल भविष्य के गर्भ में दिख रहा है।  हालांकि, राजद से भी अपनी दावेदारी पेश करने में पूर्व प्रत्याशी विनोद यादव कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। अब इन सभी दिग्गजों के अलावे समाजसेवा से अपनी पहचान बनाने वाले सूर्या वत्स भी चुनावी कतार में किश्मत आजमाने को खड़े हैं।

खैर जो हो पर फिलहाल, झाझा विधानसभा की राजनित किस ओर करवट लेगी यह देखना बेहद दिलचस्प होगा।

Edited by- Abhishek Kr. Jha

No comments