बड़ी खबरें

माँगोबन्दर के ठाकुरबाड़ी में हो रहा धार्मिक आयोजन, दो गज दूरी नियम की उड़ी धज्जियां

  


[न्यूज़ डेस्क। अभिषेक कुमार झा] :- पूरा देश कोरोना से आक्रांतित है,सरकार इसको नियंत्रित करने में पूरे हथकंडे के साथ लगी हुई है। प्रशासनिक महकमा रात-दिन लोगों की सेवा में जुटा है। बाबजूद इसके कुछ लोगों द्वारा, इस कोरोना काल में बिना सोशल डीस्टेंशिंग का पालन करते हुए धार्मिक आयोजन कर लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।उक्त मामला जिले के खैरा प्रखंडान्तर्गत मांगोबंदर गांव के ठाकुरबाड़ी की है, जहां भारी भीड़ के साथ बाल-गोपाल की षष्ठी का आयोजन वहां के आयोजकों के द्वारा किया गया। इसके पूर्व भी जन्माष्टमी के दिन डीजे के साथ देर रात तक भजन कीर्तन का आयोजन किया गया था। विदित हो कि कुछ दिन पूर्व मांगोबंदर के एक व्यवसायी की मौत के बाद कोरोना की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद से कोरोना की जांच को लेकर मांगोबंदर में जांच शिविर भी लगाया गया, जहां करीब एक दर्जन से अधिक लोग कोरोना संक्रमित भी पाये गये। वहीं, प्रशासन ने एहतियातन मांगोबंदर बाजार को सील भी किया हुआ था। वर्तमान में देखा जाय तो इसका ग्राफ़ निरंतर बढ़ता ही जा रहा है।आयोजकों द्वारा जिलाधिकारी के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है।जबकि देश के विभिन्न एवं महत्व

पूर्ण धार्मिक स्थलों की पूजा भीड़ के कारण रोक दी गई है या सिर्फ मंदिर के पुजारी को पूजा करने की अनुमति दी गई है। केंद्र एवं राज्य सरकारों की योजनाएं कोरोना के बढ़ते ग्राफ़ के कारण लंबित कर दिया गया है। बाबजूद इसके आयोजकों द्वारा इस प्रकार की लापरवाही, लोगों की जान जोखिम में डाल रही है।



No comments