बड़ी खबरें

गिद्धौर हाई स्कूल के ये शिक्षक विभागीय आदेश को नहीं दे रहे तवज्जो

Gidhaur News  :-   शिक्षा विभाग के महकमे में  आज कल कुछ शिक्षकों को अधिकारियों के आदेश की परवाह नहीं है। ताजा उदाहरण जमुई जिले के गिद्धौर स्थित महाराज चंद्रचूड़ विद्या मंदिर की है जहां जिला शिक्षा पदाधिकारी, जमुई ने ज्ञापांक 983 दिनांक 09/12/2019 के आलोक में यहां पदस्थापित शिक्षक अभिषेक कुमार का प्रतिनियोजन रद्द करते हुए शीघ्र ही विद्यालय में योगदान देने का आदेश दिया था, लेकिन आज आठ महीना बीत जाने के बाद भी अभिषेक कुमार सिंह ने विद्यालय में योगदान नही दिया है, जो वरीय विभागीय आदेश की अवेहलना है।


यहां यह बता दें कि,  +2 महाराज चंद्रचुड़ विद्या मंदिर में भौतिकी के एक मात्र शिक्षक अभिषेक कुमार ही हैं। बिहार सरकार के प्रधान सचिव ने अपने ज्ञापांक 1068 दिनांक 22/09/2016 में यह आदेश दिया कि शिक्षकों को उनके पढ़ाने के अलावे और कहीं प्रतिनियुक्ति नही की जाय जिससे कि बच्चों की पढ़ाई बाधित हो। बताया जाता है कि इनका प्रतिनियोजन विगत 5 वर्षों से अधिक से की गई है। इस बीच कई बार विभिन्न कार्यों जैसे मूल्यांकन, प्रशिक्षण आदि में भी भाग लेते रहे हैं, जो कि नियमविरुद्ध है।
इसी क्रम में प्रधान सचिव शिक्षा विभाग के आदेश के आलोक में जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा प्रतिनियुक्ति रद्द करने के आदेश दिए गए थे। इसके बावजूद भी शिक्षक अभिषेक कुमार सिंह का विद्यालय में योगदान नही देना यह दर्शाता है कि उक्त शिक्षक विभागीय आदेश को तवज्जो नहीं देते। बताया जाता है कि उन्हें शिक्षा विभाग के हुक्मरानों का संरक्षण भी प्राप्त है, जिसको लेकर आज आठ महीने तक वे इस मामले से बरी दिख रहे हैं।

अभिषेक कुमार सिंह, शिक्षक


- बोले विद्यालय प्रधान -

 जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा प्रतिनियोजन रद्द के आदेश देने के उपरांत विद्यालय अनुपस्थिति विवरणी के आधार पर भुगतान करने की बात कही गई थी जबकि उक्त शिक्षक विद्यालय में योगदान आजतक नही दिए हैं, उनकी अनुपस्थिति विवरणी निगरानी से मुझे मिल रहा है। उनके वेतन भुगतान के लिए पत्रांक 17 दिनांक 18/ 05/2020 के द्वारा मेरे स्तर से जिला शिक्षा पदाधिकारी से वेतन भुगतान के लिए मार्गदर्शन की मांग की गई जो आज तक अप्राप्त है।
         - मो. मंजूर आलम
प्रभारी प्राचार्य, +2 एम सी भी, गिद्धौर (गिद्धौर)

No comments