Header Ad

header ads

जमुई में स्टेडियम निर्माण के लिए BCA को मिला जमीन देने का प्रस्ताव, रणनीति तैयार

Jamui (Sports News ) :-  संघर्ष के 17 वर्षों बाद बिहार (Bihar) को मान्यता मिली है। नई कमेटी के गठन के बाद बिहार में क्रिकेट अब पटरी पर लौटने लगा है। बीसीए अध्यक्ष राकेश कुमार तिवारी की सफल रणनीति की वजह से पूरा का पूरा संघ एक जुट है। ये बातें बिहार क्रिकेट संघ (Bihar Cricket Association ) के जिला संघ के प्रतिनिधि संजय कुमार सिंह ने कही।

संजय कुमार सिंह

उन्होंने कहा कि BCA के दो बार AGM और GBM में इसकी एक बानगी देखने को मिली है। नई कमेटी के गठन के बाद बिहार में क्रिकेट का एक अच्छा माहौल बन रहा है। महिलाओं का चतुष्कोणीय सीरीज सफलता पूर्वक कराना इसका सबसे बड़ा प्रमाण है। बिहार ने यह प्रमाणित कर दिया कि अगर मौका मिलेगा तो बिहार भी हर जिम्मेवारी बखूबी निभा सकता है। श्री सिंह ने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए भी कई काम किए जा रहे हैं। इसके लिए कमेटी का गठन कर संभावनाओं को तलाशा जा रहा है। बिहार के पांच जोन में स्टेडियम के निर्माण की दिशा में कमेटी काम कर रही है। हर जिले में कोचिंग कैंप तैयार करने की भी योजना है। गोपालगंज में 15 करोड़ की लागत से स्टेडियम निर्माण की योजना प्राथमिकता सूची में है। इसके अलावा गया, भागलपुर, जमुई और मुजफ्फरपुर से भी स्टेडियम निर्माण के लिए जमीन देने का प्रस्ताव बीसीए को प्राप्त हुआ है।
उन्होंने कहा कि बीसीए अध्यक्ष श्री राकेश कुमार तिवारी की पहल पर BCCI अध्यक्ष सौरभ गांगुली (Saurabh Ganguly) ने बिहार को गोद लिया है। श्री सिंह ने कहा कि यहां इंडोर स्टेडियम बनाने का प्रस्ताव है। इंफ्रास्ट्रक्चर कमेटी इसके लिए पटना में दो एकड़ जमीन तलाश रही है। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस काम के लिए नोवा भट्टाचार्य को कन्वेनर बनाया है। उर्जा स्टेडियम की तरह ही बिहार में दो स्टेडियम के निर्माण का प्रस्ताव बजट में किया गया है।

 उन्होंने कहा कि खेल के क्षेत्र में पारदर्शिता लाने के लिए खिलाड़ियों का रजिस्ट्रेशन कराने हेतु पोर्टल का भी शुभारंभ किया गया है। दो बार बिहार के रणजी खिलाड़ियों, प्रशिक्षकों, फिजियो और ट्रेनर का सेमिनार कर इसलिए सुझाव लिया गया कि बिहार के खिलाड़ियों को कम संसाधन में अन्य प्रदेश के खिलाड़ियों के मुकाबले कैसे खड़ा किया जाय। बेहतर कोच,ट्रेनर और फिजियो की व्यवस्था कर खिलाड़ियों को मानसिक रूप से मजबूत किया जाएगा। बेहतर प्रशिक्षण केंद्र की व्यवस्था की जाएगी। श्री सिंह ने पूरे बिहार के लोगों से सकारात्मक पहल कर पूरे देश में बिहार का इमेज बिल्ड अप करने की अपील की है।