बड़ी खबरें

गिद्धौर PHC के अव्यवस्था पर भड़की महिला कर्मियों ने खोला मोर्चा, जानिए पूरा मामला


न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】:-

कोरोना जैसे वैश्विक आपदा में एक ओर जहां सरकार स्वास्थ्य विभाग में व्यवस्था बहाल करने को लेकर पूरे महकमे के लिए दिशा-निर्देश जारी किया है, वहीं अव्यवस्था को लेकर गिद्धौर का दिग्विजय सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आज फिर सुर्खियों में है।


कोरोना पोसिटिव मरीजों के लिए बनाए गए कोविड केयर सेंटर को ले तैनात किए गए तीन महिला कर्मियों ने प्रबंधन के खिलाफ अपना मोर्चा खोल दिया है। महिलाओं ने अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा कि नियुक्त तीन महिला कर्मचारियों से महज 3000 रुपये प्रति माह पर 24 घण्टे कार्य लिया जा रहा है। न तो भोजन की व्यवस्था करवाई गई और न ही समुचित सुविधा मुहैया कराई जा रही है। पोसिटिव मरीजों के रखे जाने से सहमे उक्त कर्मियों ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन की लचर रवैये से वे मानसिक प्रताड़ना के शिकार हो रहे हैं। पोसिटिव मरीजों के कक्ष तक खाना ले जाने से लेकर चतुर्थवर्गीय स्तर के सभी कार्य इनहीं 3 महिला कर्मियों के जिम्मे है। ऐसे में अस्पताल के जेनेरेटर ऑपरेटर पवन कुमार को खान-पान सम्बन्धित व्यवस्था बहाल करने को प्रतिनियुक्त किया गया था, पर अपने जिम्मेदारी का निर्वहन नही कर रहे। महिला कर्मियों ने बताया कि जेनेरेटर ऑपरेटर पवन शराब के नशे में महिला कर्मी से गाली गलौज व अभद्र व्यवहार करता है।


इस अभद्रता और अस्पताल के अव्यवस्था से त्रस्त तीनो महिला कर्मियों ने शनिवार की दोपहर एसडीओ लखिन्द्र पासवान से फोन कर इसकी शिकायत की। शिकायत मिलते ही एसडीओ  अपने दल बल के साथ गिद्धौर स्थित दिग्विजय सिंह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे और पूरे वस्तु स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान एसडीओ ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी रामस्वरूप चौधरी को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए आशा व सफाईकर्मी को समुचित व्यवस्था बहाल करने की सख्त हिदायत दी।
इधर, अस्पताल प्रबंधन से बात करने के दौरान गिद्धौर बीडीओ गोपाल कृष्णन ने संवाददाता को कवरेज करने से रोकने के इरादे से एसडीओ के सामने संवाददाता के कैमरे पर अपना पंजा बढ़ाते हुए कैमरा बन्द करने की बात कही। कवरेज के दौरान बीडीओ का व्यवहार व्यवस्था में कहीं न कहीं चूक होने के संकेत दे रहा है।


गिद्धौर अस्पताल में एसडीओ लखिन्द्र पासवान के आगमन को ले मौके पर गिद्धौर पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. रामस्वरूप चौधरी, चिकित्सा प्रभारी डॉ. बिपुल कुमार, गिद्धौर थानाध्यक्ष आशीष कुमार सहित दल बल के साथ मुस्तैद दिखे।

- - - -   - - - - -   - -
" महिलाकर्मियों के साथ अभद्रता की जानकारी मुझे नहीं है। सभी कर्मियो से बातचीत जारी है। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी।"
    - डॉ. राम स्वरूप चौधरी
प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, गिद्धौर पीएचसी।
-   ------ - - - ---- - - - - - - - -

बता दें, जिलेभर से कोरोना पोसिटिव मरीजों को गिद्धौर के इस अस्पताल में रखने की घोषणा जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार कर चुके हैं, ऐसे में कर्मियों तथा व्यवस्था में अस्पताल प्रबंधन की छोटी सी लापरवाही कोरोना संक्रमण को और गति दे सकता है।