बड़ी खबरें

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद बने प्रवासी मजदूरों के मसीहा, घर भिजवा रहे, खाने की व्यवस्था कर रहे




पटना | अनूप नारायण :
सोनू सूद प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए परिवहन की व्यवस्था कर रहे हैं। ऐसा करने वाले वह बॉलिवुड के पहले ऐक्‍टर हैं। उन्‍होंने कई बस सेवाओं की व्‍यवस्‍था की है जो प्रवासियों को उनके घर तक भेजने में मदद करेगी। कोरोना वायरस के कारण देशभर में लॉकडाउन है। इस वजह से तमाम ऐसे लोग हैं जो अपने घरों से दूर दूसरे राज्‍यों या देशों में फंसे हैं। सरकार इनको घर तक पहुंचाने की कोशिशें कर रही है और अब इसमें बॉलिवुड सिलेब्‍स भी आगे आ रहे हैं।


अब ऐक्‍टर सोनू सूद (Sonu sood) प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए परिवहन की व्यवस्था कर रहे हैं। ऐसा करने वाले वह बॉलिवुड के पहले ऐक्‍टर हैं। उन्‍होंने कई बस सेवाओं की व्‍यवस्‍था की है जो प्रवासियों को उनके घर तक भेजने में मदद करेगी।

कर्नाटक और महाराष्ट्र सरकार से ली परमिशन
कर्नाटक और महाराष्ट्र सरकार से परमिशन लेने के बाद सोनू ने इन प्रवासियों की यात्रा और खाने का का इंतजाम किया है। सोमवार को महाराष्ट्र(Maharashtra) के ठाणे से गुलबर्गा के लिए कुल दस बसें रवाना हुईं।
 ऐक्‍टर ने खुद वहां पहुंचकर प्रवासियों का हाल जाना और उन्हें घर के लिए विदा किया।

लोगों का परिवार के साथ रहना जरूरी

सोनू सैकड़ों बेघर मजदूरों को सड़क पर चलते हुए देखकर भावुक हो गए थे। उन्‍होंने इस पर बयान देते हुए कहा, 'मैं मानता हूं कि मौजूदा समय में जब हम सभी इस वैश्विक महामारी का सामना कर रहे हैं, ऐसे में हर भारतीय का अपने परिवारों और प्रियजनों के साथ रहना जरूरी है। मैंने महाराष्ट्र और कर्नाटक की सरकार से इन प्रवासियों को लगभग दस बसों में घर पहुंचने में मदद करने के लिए अनुमति ली। महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों ने कागजी कार्रवाई शुरू करने में बहुत मदद की और कर्नाटक सरकार ने प्रवासियों का स्वागत किया।

'सोनू ने आगे कहा, 'मेरे लिए छोटे बच्चों और बूढ़े माता-पिता सहित सड़कों पर घूमने वाले इन प्रवासियों को देखना बहुत ही भावुक कर देने वाला था। मैं अपनी क्षमता के अनुसार दूसरे राज्यों के लिए भी यही करूंगा।'