बड़ी खबरें

गिद्धौर के तारडीह गांव में महादलितों ने किया उग्र प्रदर्शन, प्रशासन से की खाद्यान्न की मांग

गिद्धौर (न्यूज़ डेस्क) :- गरीबों के पेट की आग इस लॉक डाउन पर भारी पड़ रही है। एक ओर जहां प्रशासनिक आदेश पर लोगों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं, वहीं गिद्धौर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत गंगरा पंचायत के तारडीह गांव स्थित महादलित टोले के ग्रामीण खाद्यान्न को मोहताज़ हैं। बुधवार को ग्रामीणों ने पीडीएस संचालक नवल सिंह पर राशन वितरण मे मनमानी को लेकर उनके खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया।


 हंगामा करने वाले महादलित टोले के लाभुक उपेंद्र रविदास, अशोक रविदास, नरेश रविदास, बसंती देवी, मालती देवी, मीना देवी, रीना देवी, बबीता देवी, दुलवा देवी सहित दर्जनों महादलितों ने बताया कि पीडीएस संचालक के द्वारा 2 महीने से राशन नही दिया जा रहा है। जिसको लेकर हम लोग काफी परेशान हैं। इस दौरान लाभुको ने कार्ड पर पीडीएस संचालक के द्वारा फरवरी एवं मार्च माह का राशन चढ़ाने का आरोप लगाते हुए कहा कि बिना राशन दिए ही मार्च माह का कार्ड पर राशन चढाया जा रहा है।

इस दौरान दर्जनों लाभुको ने बताया कि पीडीएस संचालक के द्वारा राशन देने को लेकर बार-बार दौड़ाया जाता है। जिससे हम लोग काफी परेशान हैं लाभुकों ने बताया कि डीलर के द्वारा पिछले 2 महीने से इस प्रकार के रवैया से हम लोग काफी चिंतित और परेशान हैं। वही कोरोनावायरस के महामारी मे हम लोग को भुखमरी की स्थिति हो गई है। इसके बावजूद भी मनमाने तरीके से पीडीएस संचालक के द्वारा राशन का वितरण किया जा रहा है।


 बताते चले कि  लॉक डाउन के वजह से इन गरीब महादलित लोगो के बीच कामकाज भी ठप हो जाने के कारण भुखमरी जैसी समस्या उत्पन्न होती जा रही है, जिसकी सुधी लेने वाला कोई नही है। अनाज के अभाव मे इन लोगो को अपने परिवार के जीविकोपार्जन मे घोर कठिनाई झेलनी पड़ गई है।  तारडीह के दर्जनों उपभोक्ता ने जिला प्रशासन से अपने जीविकोपार्जन हेतु संबंधित पीडीएस संचालक से अनाज उपलब्ध कराने की गुहार लगाई है।

 - - - - बोले एसडीओ लखिन्द्र पासवान - - -
" संबंधित पदाधिकारी को पीडीएस उपभोक्ताओं को राशन देने का अविलंब निर्देश दे दिया गया है।