Header Ad

header ads

गिद्धौर : 'जनता मेस' में नौनिहालों को मिल रहा भरपेट भोजन, जिला पार्षद ने की पहल


[न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा] :- सुदृढ़ अर्थव्यवस्था का तमगा टांगे भारत में भूख एक बड़ी समस्या है। कोरोना महामारी को लेकर लागू लॉक डाउन ने इस समस्या को और हवा दे दी है।

नौनिहालों को भोजन कराते मनीष पाण्डेय

इस अंतहीन भूख पर विराम लगाने को दृढ़ निश्चय करते हुए गिद्धौर के पतसन्डा पंचायत स्थित मुसहरी में जिला पार्षद उमा पाण्डेय के निर्देशन पर शुरू किए गए 'जनता मेस' में महादलित वर्ग के पेट की आग बुझ रही है।

देखिए वीडियो>>

इस मुहिम का नेतृत्व कर रहे बिहार भाजपा प्रेस पैनल सदस्य मनीष पाण्डेय ने बताया कि इस महामारी के दौर में राशन से वंचित महादलित वर्ग के लोगों के बीच जनता मेस के माध्यम से एक प्रयास किया गया है, जिसमें महादलित बच्चे के साथ साथ महिला व वृद्ध भी शामिल हो रहे हैं। लॉक डाउन तक ये मुहिम जारी रहेगी। लगातार 7 दिनों से इस मुहिम में सोशल डिस्टनसिंग का भी पालन किया जा रहा है। श्री पाण्डेय ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान असहाय, गरीब, मजदूर और जरूरतमंद महादलितों के बीच भोजन की समस्या ना हो, इसी उद्देश्य से जनता मेस की शुरुआत कर इन्हें मुफ्त और पर्याप्त भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है।


वहीं, वैश्विक महामारी के काल में जनता मेस गरीब, असहाय एवं जरूरतमंद लोगों के लिए वरदान साबित हो रही है, जहां रोजाना  सैंकड़ों गरीब, वंचित व जरूरतमन्द असहायों को लगातार 7 दिनों से निश्शुल्क भरपेट निवाला मिल रहा है।


इधर, इंसानियत से लबरेज़ इस पहल में अपना योगदान दे रहे त्रिपुरारी तिवारी, डब्लू रावत, मनोज मांझी, समाजसेवी संजीव कुमार पटेल, पिन्टू कुमार दास, आदि ने बताया कि भूख के खिलाफ खड़े समाज के इस निचले तबके में अपने पेट को भरने की जद्दोजहद रहती है, ऐसे में जनता मेस के माध्यम से सैकड़ों की आबादी वाली इस बस्ती की भूख मिट रही है। इस प्रयास के लिए उन्होंने श्री पांडेय का भार व्यक्त करते हुए उन्हें धन्यवाद का पात्र बताया।