बड़ी खबरें

जानिए क्या है कोरोना का सीवान कनेक्शन!

पटना | अनूप नारायण : 
सीवान में सबसे पहले कोरोना पॉजिटिव ओमान से लौटा हुआ युवक में पाया गया था. ओमान से वह 21 मार्च को सीवान लौटा था. इसके बाद उसके परिवार के लोग उससे संक्रमित हो गये. ओमान से लौटा हुआ युवक के जितने भी लोग संपर्क में आये हैं, उन लोगों में कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ गया है. वहीं, दूसरा कोरोना संक्रमित मरीज मुंगेर जिले का था, जिससे नौ लोगों में संक्रमण हो गया. यह युवक कतर से 13 मार्च को मुंगेर जिला लौटा था. जिसमें कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. हालांकि इस कोरोना संक्रमित मरीज की मौत 21 मार्च को एम्स पटना में हो गयी.बिहार में शुक्रवार को कोरोना संक्रमित मरिजों की संख्या 60 हो गयी. इधर, सीवान जिला तो कोरोना का हॉट स्पॉट बन गया है. इसे देखते हुए मुख्य सचिव ने सारण के प्रमंडलीय आयुक्त और डीआइजी को सीवान में कैंप करने का निर्देश दिया है. सर्वाधिक तेजी से कोरोना फैलाने वाला मरीज सीवान के रघुनाथपुर प्रखंड के पंजवार गांव का निवासी है. उसने सिर्फ 10 दिनों में 24 संबंधियों के बीच कोरोना वायरस का प्रसार कर दिया. ओमान से वह 21 मार्च को सीवान लौटा था. लक्षण के अधार में उसका सैंपल 30 मार्च को लिया गया था. तब से उसके संपर्क में आने वाले लोगों में पॉजिटिव होने का सिलसिला थम नहीं रहा है. गुरुवार को उसके संपर्क में आने वाले 14 लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया. रघुनाथपुर के इस मरीज के संपर्क में आने वाले और दो कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टी शुक्रवार को हुई.