बड़ी खबरें

बिहार में सोशल डिस्टेंसिंग की विफलता पर नाराज हुए एनआरआई रमेश शर्मा

पटना : सिवान में सोशल डिस्टेंस की विफलता के बाद 27 मरीजों के मिलने के घटना से नाराज एन आर आई  बिहारी रमेश कुमार शर्मा ने बिहार सरकार को आड़े  हाथ लिया है. उन्होंने कहा कि ओमान से लौटे सिवान के युवक की तीन बार जांच की गई और चौथी बार में उसके पॉजिटिव होने का पता चला इस दौरान युवक ने 20 से ज्यादा लोगों को संक्रमित किया. यह तादाद और बढ़ सकती है. यह पूरी तरह से प्रशासनिक विफलता है. बिहार में लोगों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. जो जाँच रिपोर्ट है उन पर भी भरोसा नहीं होता. सरकार सिर्फ वाहवाही लूटने में लगी हुई है. इस वर्ष बिहार में चुनाव होने हैं. सरकार लोगों की जान से ज्यादा अपने वोट बैंक की रक्षा में लगी हुई है. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री सिवान से आते हैं और उस सिवान की स्थिति काफी बदतर है. इसी सिवान के सिविल सर्जन ने झोलाछाप डॉक्टरों से  इलाज कराने का नोटिस जारी किया था जिसे आनन-फानन में निलंबित किया गया है. आप अंदाजा लगा सकते हैं किस तरह गंभीर है बिहार सरकार. उन्होंने बिहार के लोगों से अपील की है कि कृपया अपने घरों के अंदर रहे. सोशल डिस्टेंस का पालन करें. अफवाहों से बचें स्थिति और तेजी से खराब हो रही है. इसलिए खुद पर संयम रखें. उन्होंने राज्य और केंद्र सरकार से मांग की है कि बिहार के ज्यादा प्रभावित जिलों में युद्धस्तर पर राहत और बचाव कार्य शुरू किए जाय. स्थानीय स्तर पर आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था की जाए बिहार की राजधानी पटना के सभी सरकारी अस्पतालों को अत्याधुनिक बनाया जाए. सर्व विदित हो कि कोरोना संकट के बीच एन आर आई बिहारी समाजसेवी रमेश कुमार शर्मा ने पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र के 5000 से ज्यादा लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान की है. उनके द्वारा एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है जिसके तहत पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र का कोई व्यक्ति जिसके पास दवा खरीदने का पैसा नहीं हो सेवा का लाभ उठा सकता है.