बड़ी खबरें

सोनो में बोले सरपंच संघ के जिलाध्यक्ष, खोखली है ग्राम कचहरियों की हालत

सोनो (Sono) :-  सरपंच संघ के जिलाध्यक्ष सह लोहा पंचायत के सरपंच  विश्वविजय सिंह ने कहा है कि ग्राम कचहरियों की हालत देखकर सरपंच सदमे में हैं। अब उन्हें लगने लगा है कि पंचायत राज अधिनियम के तहत जो अधिकार सरपंचों को दिए गए हैं, वे महज कागजी साबित हो रहे हैं। ग्राम कचहरी के सरपंच आज मजाक व उपहास के पात्र बन गए हैं।


 उन्होंने बताया कि सरपंच भी चुनाव जीतकर आते हैं पर उनके प्रति अधिकारियों का व्यवहार सम्मानजनक नहीं रहता है। सम्मन जारी करने व उसके तामिला को ले प्रत्येक ग्राम कचहरी में एक चौकीदार की प्रतिनियुक्ति की व्यवस्था होनी चाहिए। ग्राम कचहरियों में सर्वाधिक मामले जमीनी विवाद के आते हैं। अमीन नहीं रहने के कारण ऐसे विवादों का निस्तारण संभव नहीं हो पाता। शक्तिहीन साधन विहीन व कर्मीविहीन ग्राम कचहरी के सरपंच स्वयं नोटिस का तामिला कराते हैं। पंचायतों से जुड़ी सरकारी योजनाओं में सरपंचों की कोई राय नहीं ली जाती है। यहां तक कि कोरोना के इस महामारी में, जब ग्राम कचहरी के सरपंच गरीब,असहाय जनता की मदद करना चाहते हैं,पर साधन विहीन सरपंच खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं। वर्तमान परिस्थिति में ग्राम कचहरी के पास ना तो सम्मान है ना ही साधन। ऐसे में सरपंच पद को ही समाप्त कर देना चाहिए।