बड़ी खबरें

सिमुलतला के जंगली क्षेत्रों में पेड़ों की अंधाधुंध कटाई से घट रही हरियाली


सिमुलतला (गणेश कुमार सिंह) :-  सिमुलतला क्षेत्र के रमणीय स्थान लटटू पहाड़ एवं राजा कोठी के समीप लगे हरे भरे वन संपदा को काटकर वीरान कर दिया गया। यही हाल सिमुलतला थाना क्षेत्र के घोरपरण जंगल का भी है। 

सिमुलतला के फारेस्ट हेड अनिल कुमार ने बताया कि लटटू पहाड़ का क्षेत्र हमारे क्षेत्र अंतर्गत नहीं है। यहां बांका जिला अंतर्गत वन विभाग की है। यहाँ के वीरान स्थिति को देखकर स्थानीय लोगों में भी रोष दिखा। स्थानीय युवक मोंटी कुमार सिंह, विक्की सिंह, शुभम वर्णवाल, विशाल कुमार आदि ने वन विभाग की  कार्यशैली पर सवाल उठाया। आसपास के ग्रामीणों के अनुसार, इससे घने जंगल दिन-प्रतिदिन उजड़ते जा रहे हैं। इसस पर्यावरण पर संकट गहराता जा रहा है। ग्रामीणों के अनुसार वन विभाग द्वारा पेड़ों की देखभाल के नाम पर महज खानापूर्ति हो रही है। पेड़ों की कटाई से पर्यावरण की अपूरणीय क्षति हो रही है। लकड़ी की तस्करी भी बड़े पैमाने पर हो रही है। पेड़ों की कटाई से हो रहे नुकसान की लगातार अनदेखी की जा रही है। प्रत्येक वर्ष बारिश के दिनों में जंगल में बढ़ते जोत-कोड़ से वैसे भी वन का दायरा सिमटता जा रहा है। पेड़ों की घटती संख्या से पर्यावरण असंतुलित होता जा रहा है। इसके बावजूद भी वन की सुरक्षा के प्रति जिम्मेदार विभाग सचेत नहीं हो रहा है। पर्यावरण प्रेमियों ने वन कटान में लिप्त लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।