बड़ी खबरें

जमुई : पिता की हत्या करने वाला कलयुगी पुत्र 48 घंटे के भीतर गिरफ्तार, चंद्रमंडीह पुलिस को मिली कामयाबी

चंद्रमंडीह/चकाई/जमुई [बिधुरंजन उपाध्याय] :
चकाई प्रखंड के चंद्रमंडीह थाना क्षेत्र अंतर्गत कियाजोरी पंचायत के मालदेहडीह गांव में बीते 10 फरवरी को कलयुगी पुत्र द्वारा आपसी विवाद में अपने पिता को बम मारकर हत्या कर मौके से फरार हुआ हत्याकांड का आरोपी प्रमोद यादव को चंद्रमंडीह पुलिस ने 48 घण्टे के अंदर लखीसराय जिला के कियूल थाना क्षेत्र के बसमतीया गांव से गिरफ्तार कर लिया है.

इस सम्बंध में चंद्रमंडीह थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने बताया की बीते 10 फरवरी सोमवार को मालदेहडीह गांव निवासी गिरफ्तार आरोपी प्रमोद यादव का अपने पिता चोढ़ी यादव से आपसी विवाद को लेकर कहा सुनी हो गई.इसी बीच सोमवार संध्या साढ़े चार बजे के करीब प्रमोद ने क्रोध में आकर घर के बगल स्थित सड़क के किनारे खड़े अपने पिता पर बम से प्रहार किया जिससे उसके पिता की मौके पर ही मौत हो गई.

चौढी यादव हत्याकांड में आरोपी की मां ने आरोपी पुत्र पर चंद्रमंडीह थाने में दर्ज कराई थी प्राथमिकी
चंद्रमंडीह थाना क्षेत्र के मालदेडीह गांव में सोमवार को पुत्र द्वारा अपने पिता की बम मारकर हत्या मामले में  चंद्रमंडीह थाने में मां ने पुत्र पर प्राथमिकी दर्ज कराई है.मृतक चोड़ी यादव की पत्नी बबली देवी ने चंद्रमंडीह थाने में आवेदन देकर अपने ही पुत्र प्रमोद यादव पर पिता की हत्या का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है. चंद्रमंडीह थाना कांड संख्या 15/2020,धारा 302 IPC 3-15C विस्फोटक पदार्थ अधिनियम 1908 के तहत मामला दर्ज कर किया गया था.चंद्रमंडीह थाने में दर्ज प्राथमिकी में मृतक चोड़ी यादव की पत्नी बबली देवी ने बताया है कि सोमवार को उसका पुत्र प्रमोद यादव मेरे पति चोड़ी यादव के पीठ पर बम फेंक दिया.जिससे उनकी घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गयी.घटना के पूर्व में भी प्रमोद यादव अपने पिता की पिटाई किया करता था.

वही घटना को अंजाम देकर प्रमोद मौके से भाग निकला था.उसके बाद चकाई थाना क्षेत्र के बटपार गांव में रात में रुका था.उसके बाद मंगलवार की सुबह आरोपी बटपार से भागकर लखीसराय भाग गया था.
अवैध कार्यो में आरोपी की थी संलिप्तता, ग्रामीण एवं परिजनों को देता था जान मारने की धमकी
वही इस ह्र्दय विदारक घटना के बाद से मृतक के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया था.दूसरी ओर सभी लोग सकते में थे तथा पूरा गांव में मरघटी सन्नाटा पसरा हुआ था.ग्रामीणों ने बताया की आरोपी सनकी किस्म का व्यक्ति था.आरोपी गलत कार्यो में संलिप्त था.पंचायत चुनाव के समय से ही यह बम और पिस्टल रखता था एवं ग्रामीणों को जान से मारने की धमकी देता रहता था.मृतक पिता चौढी यादव की हत्या से पहले मृतक ने आरोपी का पिस्टल घर मे छिपा दिया था एवं पिता गलत रास्ता छोड़ सही संगत में आने की बात की जाती रही थी.आरोपी बेटे एवं मृतक पिता के बीच छिपाए गए पिस्टल की मांग की गई थी.जिस वजह से पिता द्वारा पिस्टल नही दिए जाने के बाद गुस्साए आरोपी प्रमोद यादव ने बम मारकर पिता की हत्या कर दी.

वही घटना के बाद से चंद्रमंडीह पुलिस द्वारा लगातार आरोपी को गिरफ्तार करने हेतु छापेमारी अभियान चलाया जा रहा था.इसी बीच गुरुवार सुबह चंद्रमंडीह थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी कर लखीसराय जिला के कियूल पुलिस के सहयोग से बसमतिया गांव से गिरफ्तार कर लिया है.गिरफ्तार आरोपी को चंद्रमंडीह थाना लाकर पूछताछ किया जा रहा है.

क्या कहते हैं झाझा एसडीपीओ
इस सम्बंध में झाझा डीएसपी भास्कर रंजन ने कहा की हत्याकांड की घटना दुर्भाग्यपूर्ण था.आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है.स्पीडी ट्रायल चलवाकर आरोपी को सजा दिलवाया जाएगा.