बड़ी खबरें

बिहार में चल रहे पोस्टर वार पर 'आप' का आरोप - लालू-नीतीश की सरकार में अंतर नहीं


4 JAN 2020

पटना : बिहार की राजनीति इन दिनों राजनीतिक मैदान में नहीं बल्कि पोस्टरों तक सिमट कर रह गई है। नए साल की शुरुआत पक्ष-विपक्ष के बीच पोस्टर वॉर से हुई। इसके बाद रोज आरजेडी और जेडीयू की ओर से पोस्टर द्वारा अपनी बड़ाई और विपक्ष की कमियों को बखूबी दिखाया जा रहा है। 


पटना के इनकम टैक्स चौराहा के पास जेडीयू कि ओर से दो दिन पहले एक पोस्टर लगाया गया था जिसमे आरजेडी के 15 साल के कार्यकाल को जंगल राज के रूप में तो वहीं जेडीयू के 15 साल के कार्यकाल को सुशासन के रूप में दिखाया गया था। इसके जवाब में कल आरजेडी की ओर से इनकम टैक्स चौराहा के पास ही पोस्टर लगवाया था, जिसमें एक तरफ केंद्र को जुमलों की सरकार, वहीं बिहार की सरकार को झूठ बोलने वाली सरकार बताया गया।

इसके जवाब में फिर आज जेडीयू ने एक पोस्टर के माध्यम से आरजेडी पर निशाना साधते हुए दिखाया गया है , जिसमे एक तरफ लालू यादव के शासन में कराहता बिहार और दूसरे तरफ नीतीश कुमार के सरकार में सवरता बिहार को दिखाया गया है।

आरजेडी और जेडीयू के पोस्टर वार पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी की महिला प्रदेश अध्यक्ष उमा दफ्तुआर ने कहा है कि बिहार में आये दिन बहू-बेटियों के साथ हैवानियत हो रही है, बिहार का हर युवा नौकरी के लिए भटक रहा है, लेकिन नीतीश कुमार की सरकार अपने कामों को पोस्टरों पर गिनवा रही है, जो यहाँ की जनता के साथ भद्दा मज़ाक है। आरजेडी के शासन में और जेडीयू के शासन में कुछ ज्यादा अंतर नहीं है। लालू के राज में भी अपराध चरम सीमा पर था और आज भी बिहार की वर्तमान स्थिति कुछ ज्यादा अलग नहीं है।