बड़ी खबरें

अलीगंज में डिग्री कॉलेज नहीं, उच्च शिक्षा से वंचित हैं सैंकड़ों छात्र



अलीगंज (चन्द्रशेखर आज़ाद) :-

प्रखंड के अलीगंज बाजार में शुक्रवार को प्रखंड के बुद्धिजीवियो व समाजसेवियो की एक बैठक समाजसेवी धर्मेद्र पासवान की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में क्षेत्र में फैले आमजन की समस्याओं को लेकर विस्तृत चर्चा किया गया।


बैठक को संबोधित करते हुए धर्मेन्द्र पासवान ने कहा कि प्रखंड की लगभग दो लाख आबादी है, लेकिन अलीगंज में एक भी डिग्री कॉलेज नहीं रहने से यहां के छात्रों को उच्चशिक्षा के लिए मुहताज होना पड़ता है। उन्होंने कहा कि जो आर्थिक रूप से मजबूत हैं वे तो पटना ,दिल्ली व अन्य शहरों में जाकर   उच्च शिक्षा हासिल कर लेते हैं।लेकिन जो पढ्ने में अच्छे है, लेकिन आर्थिक स्थिति मजबूत नही होने पर बाहर रहकर पढाई करने में सक्षम नहीं हो पाते है। जिससे यहां के वैसे मेधावी छात्रों की प्रतिभा कुंठित हो रही है। बैठक को संबोधित करते हुए अधिवक्ता शशिशेखर सिंह 'मुन्ना' ने कहा कि यहां डिग्री कालेज नही रहने से खासकर छात्राओं को काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि लड़के तो बाहर जाकर शिक्षा पाने के लिए चले जाते हैं। खासकर महिलाओं को उच्चशिक्षा से वंचित रहना पड़ता है। उन्होंनेने बताया कि आज तक किसी जनप्रतिनिधियों ने इस समस्या की ओर ध्यान नही दिया है। बैठक में सुबे के मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री को हस्ताक्षर युक्त आवेदन देकर अलीगंज प्रखंड में डिग्री कॉलेज खोलने की मांग किया है। मौके पर रविशंकर सिंह, चंद्रशेखर आजाद, विक्रमादित्य , रघुनंदन पासवान, धर्मेन्द्र कुशवाहा, अनिल यादव, सिंघेश्वर महतो, रामविलास यादव, ब्रह्मदेव सिंह, राजेश पासवान सहित बड़ी संख्या में प्रखंड के बुद्धिजीवियों व समाजसेवी मौजूद थे।