झाझा : ट्रक की चपेट में आई महिला, घटनास्थल पर मौत, चालक फरार, एनएच 333 पर लगा लंबा जाम

झाझा/जमुई :
झाझा के सोहजाना स्थित सीआरपीएफ कैम्प के समीप एनएच 333 पर ट्रक की चपेट में आने से एक महिला की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।
प्राप्त जानकारी अनुसार लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ककनचोर गांव की रहनेवाले वासुदेव रविदास की पत्नी  सुरजी देवी इलाज हेतु अपने बेटे रंजीत और बहू प्रमिला देवी के साथ मोटरसाइकिल से ही रविवार को देवघर गई हुई थी। देवघर से शाम में वापस लौटने के क्रम में झाझा के सोहजाना स्थित सीआरपीएफ कैम्प के समीप ट्रक की चपेट में आने से सुरजी देवी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

घटना की जानकारी देते हुए मृतका के पुत्र ने बताया कि कैम्प के समीप ही एक ऑटो में सामने से आ रहा मोटरसाइकिल सट गया और उस मोटर साइकिल का हैंडल उनकी मोटरसाइकिल के संपर्क में आ जाने से अचानक संतुलन बिगड़ गया। जिस वजह से मोटरसाइकिल पर पीछे बैठी उनकी मां (मृतका) गिर पड़ी। जब तक वो खुद को संभाल पाती, पीछे से आ रहे ट्रक (बी.आर. 1 जी 1200) उनकी मां के सिर को कुचलते हुए पार हो गई, जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। इससे पूर्व की सीआरपीएफ कैम्प के मुख्य गेट के पास तैनात जवान ट्रक चालक को पकड़ पाते, वो ट्रक को सड़क किनारे लगाकर फरार हो गया।

घटना की जानकारी झाझा थाना को मिलते ही मौके पर झाझा थाना के एस. आई. शहंशाह, संजय त्रिवेदी सहित अन्य पुलिस बल घटना स्थल पर पहुँचकर शव को अपने कब्जे में लेकर परिजनों से पूछताछ की। झाझा पुलिस ने घटना स्थल से ही ट्रक को अपने कब्जे में ले लिया। इससे पहले की स्थानीय लोग किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी करते या फिर सड़क जाम करते, झाझा पुलिस और सीआरपीएफ कैम्प के जवानों ने घटनास्थल से 30 मीटर की दूरी तक घेरा करते हुए शव के पास से आमजनों को दूर रखा।

वहीं घटना के बाद सड़क के दोनों दिशाओं में वाहनों की लंबी कतार लग गई। कानूनी प्रक्रिया पूरी होने तक जाम लगा रहा।
घटना के तकरीबन एक घंटे बाद कैम्प के जवानों व स्थानीय पुलिस कर्मियों के सहयोग से जाम हटाकर जब्त ट्रक को सीआरपीएफ कैम्प में रखा गया। समाचार सम्प्रेषण तक शव को अग्रेतर प्रक्रिया की ओर ले जाने की तैयारी पुलिस द्वारा जारी थी।
Previous Post Next Post