बड़ी खबरें

सत्य साईं जन्मोत्सव पर भजन एवं नारायण महाभोज खिचड़ी आयोजित, जुटे हजारों श्रद्धालु

गिद्धौर/जमुई :
मानव सेवा से बढ़कर कोई कर्म नहीं है और इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं है. सत्य साईं बाबा ने अपना पूरा जीवन मानव सेवा में समर्पित कर दिया. श्री सत्य साईं बाबा द्वारा संचालित हो रहे विद्यालयों, महाविद्यालयों, सुपर स्पेशलिटी अस्पताल से दुनिया भर के लोगों को फायदा मिल रहा है. उक्त बातें श्री सत्य साईं सेवा संगठन के जिलाध्यक्ष डॉ. रामसेवक पासवान ने शनिवार को जमुई के गिद्धौर स्थित पंचमंदिर परिसर में श्री सत्य साईं बाबा के 94वें जन्मोत्सव पर आयोजित जिलास्तरीय भजन-संकीर्तन-प्रवचन एवं नारायण महाभोज खिचड़ी कार्यक्रम के दौरान कही.
डॉ. पासवान ने अपने संबोधन में वैश्विक परिवेश में सत्य साईं संगठन के औचित्य एवं मानव सेवा के महत्त्व पर विस्तृत चर्चा की.
कार्यक्रम की शुरुआत सत्य साईं संगठन के जिलाध्यक्ष डॉ. रामसेवक पासवान एवं जिला आध्यात्मिक कोऑर्डिनेटर सुशांत साईं सुन्दरम ने दीप प्रज्वलित कर की. जिसके बाद श्वेता सिन्हा, खुशबु कुमारी, मुन्ना कुमार, गौरी कुमारी ने सुमधुर आवाजों में भजनों की प्रस्तुति दी. भजन सुनकर श्रोता भाव-विभोर हो गए. भजन कार्यक्रम में सैंकड़ों महिलाओं ने हिस्सा लिया.
भजन समाप्ति के बाद नारायण महाभोज खिचड़ी की शुरुआत हुई. जिसमें संगठन के जिलाध्यक्ष डॉ. रामसेवक पासवान, जिला महिला आध्यात्मिक कोऑर्डिनेटर अपराजिता सिन्हा, सामाजिक कार्यकर्ता सूर्या वत्स ने नारायणों को खिचड़ी परोसा एवं स्वयं भी ग्रहण किया. 
श्री सत्य साईं सेवा संगठन के जिला आध्यात्मिक कोऑर्डिनेटर सुशांत साईं सुन्दरम ने बताया कि प्रतिवर्ष सत्य साईं बाबा के जन्मोत्सव पर जिलास्तरीय नारायण महाभोज खिचड़ी कार्यक्रम का आयोजन वर्ष 1991 से अनवरत होता आ रहा है. इसकी शुरुआत श्री सत्य साईं सेवा समिति गिद्धौर के तत्कालीन कन्वेनर एवं जमुई जिला संगठन के संस्थापक डॉ. प्रफुल्ल कुमार सिन्हा ने की थी. तब से अब तक में इस आयोजन में काफी कुछ परिवर्तन आया है. इसके स्वरुप में भी विस्तार हुआ है. इस वर्ष नारायण महाभोज में दस हजार से अधिक महिला-पुरुषों ने खिचड़ी महाप्रसाद ग्रहण किया.
कार्यक्रम के सफल आयोजन में श्रवण रावत, रितेश कुमार, पवन कुमार, बिनोद गुप्ता, कपिलदेव साह, नालो केशरी, गोपाल रावत, श्याम पंडित, झूलन रावत, जयराम, नंदकिशोर रावत, झारी यादव, ईश्वर रावत, अनामिका कुमारी, ज्योति केशरी सहित जिलाभर के साईं भक्तों ने योगदान दिया.