Breaking News

6/recent/ticker-posts

दुःशासनों के करतूतों को धृतराष्ट्र की तरह देख रही राज्य सरकार : आप

पटना (अनूप नारायण) : आम आदमी पार्टी ने आरा के बिहिया में महिला को नग्न घुमाये जाने की घटना को सामूहिक वहसीपन करार देते हुये इसे अंतरराष्ट्रीय चिंता का विषय बताया है. साथ ही इसे सम्पूर्ण मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना बतलाया है.

पार्टी की महिला मोर्चा अध्यक्षा उमा दफ़तूआर ने कहा कि जिस देश में दुर्गा और सीता के रूप में नारी को पूजने की संस्कृति फैली हो, वहाँ महिला को सरेआम नग्न कर सड़कों पर घुमाने जैसी घटना इस बात का सूचक है कि हमारा समाज ग़लत दिशा में बढ़ रहा है. ऐसे में हमें अविलम्ब सजग होने की ज़रूरत है.  

उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर बालिकगृह कांड में अपनी भद्द पिटवा चुकी धृतराष्ट्र राज्य सरकार के भरोसे बैठने से अब कुछ नहीं होने वाला है. आम जनता को देश के संविधान, संस्कृति और नारी की रक्षा के लिये अब सड़कों पर उतरना होगा.

पार्टी के प्रवक्ता अमर प्रसाद यादव ने कहा कि एक तरफ कई संगठन धर्म एवं संस्कृति की आड़ में आम जनता को संविधान के खिलाफ भड़काने का कार्य कर रहे हैं. वे युवाओं में द्वेष, हिंसा एवं वहसीपन के भाव को भरने के मुहिम में लगे हुये हैं. जिसके दुष्परिणाम के रूप में बिहिया जैसी घटनाएँ सामने आ रही हैं जहाँ झुण्ड के झुण्ड दुःशासनों के उड़ान भरते हौसलों की झलक देखी जा सकती हैं. दूसरी तरफ राज्य के मुख्यमंत्री ने खुद की कुर्सी बचाने के लिये साम्प्रदायिक शक्तियों के हाथों में राज्य को गिरवी रख दिया है.

श्री यादव ने यह भी कहा कि सिर्फ़ बिहार में ही नहीं, बल्कि देश के ज़्यादातर हिस्सों में भीड़तंत्र द्वारा हिंसा का माहौल बनता जा रहा है. नकारात्मक भावों को फैलाने वाली संस्थाएँ गलत सूचनाओं एवं ग़लत इतिहास के सहारे युवाओं को अपने चपेट में ले रही हैं.  इन संस्थाओं को सरकारों का भी संरक्षण प्राप्त है. ये हिंसा-द्वेष फैलाकर समाज को बाँटकर रखना चाहते हैं ताकि लोगों का ध्यान और माँग अच्छी शिक्षा, रोज़गार और विकास की तरफ न जाये.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ