बड़ी खबरें

जमुई : STET परीक्षा रद्द करने का विरोध, ABVP ने किया सद्बुद्धि यज्ञ, बोले - ईश्वर सरकार को दें सद्बुद्धि


जमुई : - अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बिहार प्रदेश के आह्वान पर पूरे जमुई जिले भर में बिहार सरकार को सद्बुद्धि प्रदान करने हेतु सद्बुद्धि महायज्ञ का आयोजन पतनेश्वर मंदिर में किया गया। जिसमें सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने हवन कर ईश्वर से सरकार को सद्बुद्धि देने हेतु  प्रार्थना किया।

छात्र नेता शैलेश भारद्वाज ने कहा कि, बिहार सरकार माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (STET) परिणाम को रद्द कर हजारों छात्रों के भविष्य को कुचलने का काम किया है।

प्रदेश कार्यकारणी सदस्य राहुल सिंह राठौड़ ने कहा कि, कोविंड-19 के इस भीषण महामारी के समय एक ओर जहाँ छात्र, अभिभावक आर्थिक तंगी से जूझ रहे है तो दूसरी ओर किराएदार वह निजी शिक्षण संस्थान के मालिक उन पर शुल्क जमा करने का दबाव बना रहे हैं। इस परिस्थिति में सरकार को   मौन रहना शर्मनाक है।
प्रदेश कार्यसमिती सदस्य कुंदन यादव ने कहा, सुशासन के 15 वर्षों के शासनकाल में भर्ती हेतु जो परीक्षाएं हुए हैं उसमें से 95% से अधिक परीक्षाएं विवादों में रहा आखिर इसके कौन है जिम्मेदार हैं। स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय शिक्षक विहीन होते जा रहे हैं फिर बिना शिक्षक का छात्र कैसे पड़ रहे हैं।

नगर सह मंत्री करन साह ओर रतन सिंह  ने कहा, ना समय से परीक्षा हो रही है, ना समय से परिणाम आ रहे हैं, समय से वर्ग का संचालन हो रहे हैं आखिर इसके जिम्मेदार कौन हैं ?
शैलेश भारद्वाज ने आरोप लगाते हुए कहा कि, सरकार के गलत नीति, हठधर्मी, राजनीतिक द्वेष के कारण हजारों छात्र युवाओं का भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहे हैं। आखिर उच्च स्तरीय जांच का आदेश क्यों नहीं। दोषी बोर्ड के अध्यक्ष को क्यों नही हटाया गया। प्रदेश कार्यकारणी सदस्य राजा गुलाब ने कहा कि, भ्रष्ट पदाधिकारियों के ऊपर करवाई क्यों नहीं किया गया। पदाधिकारियों को बचाने में सरकार क्यों लगी है। अपने निर्णय पर सरकार पुनर्विचार करें। अन्यथा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद चरणबध्द आंदोलन जारी रहेगा।

कार्यक्रम में पप्पू यादव, उज्वल आर्य, आजाद राय, गौतम कुमार, सन्नी सिंह, भानु सिंह, मिथुन साह,सिद्धात सिन्हा, सुधांशु कुमार, केशव कुमार सहित और भी कई कार्यकर्ताओं ने अपनी सहभागिता दर्ज की है।