बड़ी खबरें

Jamui : प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराने को लेकर DDC ने की बैठक, दिए निर्देश


Jamui (News Desk) :-

मंगलवार को जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र धधौर (DRCC) के सभागार में डीडीसी अरुण कुमार ठाकुर आयुक्त ने बैठक आयोजित की। बैठक में रोजगार उत्पन्न करने वाले विभाग के पदाधिकारियों ने भाग लिया। अन्य राज्यों से आए हुए  प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार सृजन आदि विषय पर अधिकारियों ने बैठक में अपनी बातों को रखा। उपविकास आयुक्त (DDC) ने सभी विभागों को निर्देश देते हुए कहा कि आपके विभाग में संचालित योजनाएं की  कार्य योजना इस प्रकार तैयार किया जाय कि स्थानीय श्रमिकों के साथ - साथ दूसरे राज्य से वापस आए हुए श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध हो सके। उप विकास आयुक्त ने कहा कि सभी प्रवासी श्रमिकों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार उपलब्ध हो यह सभी विभाग सुनिश्चित करें। यदि सरकारी योजनाओं के साथ-साथ उन्हें रोजगार उपलब्ध नहीं कराया जाएगा तो इन श्रमिकों को दूसरे प्रदेशों में पुनः जाना  पड़ेगा। सभी प्रवासी श्रमिकों को उनके स्किल (skill) के अनुसार रोजगार (job) उपलब्ध कराये जाने पर बल दिया गया।

बैठक में श्रम अधीक्षक  को निर्देश दिया गया कि सभी प्रवासी श्रमिकों को रजिस्ट्रेशन कराया जाए तथा उसके स्किल के अनुसार अलग-अलग सूची संबंधित विभाग को उपलब्ध कराया जाय ताकि उन्हें रोजगार मुहैया कराया जा सके।
 वहीं, DRCC के प्रबंधक को निदेश दिया गया कि श्रमिकों का यदि उम्र और योग्यता है तो उसको मिलने वाले लाभों के लिए उनका रजिस्ट्रेशन कराया जाए। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले प्रवासी श्रमिक  ज्यादा कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी (construction activity) में कार्य करने वाले हैं। अतः कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी मे ज्यादा से ज्यादा उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है। मनरेगा के तहत संचालित योजनाओं में सभी प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाए। बैठक में जीविका के माध्यम से भी सभी को रोजगार उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि स्वरोजगार पर विशेष ध्यान दिया जाए ताकि वह अपना स्वरोजगार भी कर सके। यदि उन्हें विशेष प्रशिक्षण की आवश्यकता हो तो उन्हें प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध कराया जाए, स्वरोजगार हेतु उन्हें प्रोत्साहित किया जाए।
उप विकास आयुक्त ने सभी पदाधिकारी को यह निर्देश दिया कि अपने अपने विभाग से रोजगार उत्पन्न करने पर एक कार्य योजना तैयार कर उपलब्ध कराया जाय।  बारी बारी से सभी विभाग के पदाधिकारी अपना सुझाव उप विकास आयुक्त महोदय द्वारा साझा किया गया। विकास आयुक्त ने जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक को निदेश दिया कि आवश्यकतानुसार श्रमिकों को वित्त पोषण तथा ऋण प्राप्त कराने के लिए बैंकों की अद्यतन योजना से संबंधित विवरण उपलब्ध कराया जाए, तथा आवश्यकतानुसार यदि किसी श्रमिक को स्वरोजगार के लिए ऋण की आवश्यकता है तो उसे ऋण उपलब्ध कराया जाए।
बैठक में कार्यपालक अभियंता, भवन प्रमंडल जमुई, कार्यपालक अभियंता, सिंचाई प्रमंडल जमुई/ सिकंदरा/ झाझा, कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई प्रमंडल जमुई कार्यपालक अभियंता लोक स्वास्थ्य प्रमंडल, जमुई, कार्यपालक  अभियंता पथ प्रमंडल जमुई, उपनिदेशक भूमि संरक्षण जमुई, जिला योजना पदाधिकारी, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, सहायक निदेशक उद्यान, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र, श्रम अधीक्षक जमुई, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक जमुई, परियोजना प्रबंधक जीविका जमुई, आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे।