बड़ी खबरें

जनता कर्फ़्यू : जिले में दिखा व्यापक असर, सड़कों पर सन्नाटा, घरों में कैद रहे लोग


न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

महामारी कोरोना से बचाव और रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर  रविवार को जनता कर्फ़्यू का जिलेवासियों ने स्वागत एवं समर्थन किया।

जमुई जिले के  गिद्धौर, खैरा, सिकन्दरा, अलीगंज, आदि प्रखण्डों में इस कर्फ़्यू का व्यापक असर दिखा।
बिना किसी सख्ती के सभी लोग अपने-अपने घरों में रहे गिद्धौर में जनता कर्फ्यू का व्यापक असर देखने को मिला। गिद्धौर-जमुई मुख्य मार्ग के अलावे गिद्धौर बाजार भी शांत रहा। रेलवे स्टेशन पर वीरानगी छायी रही।
नरगंजो स्टेशन,    फ़ोटो- राजीव रंजन

इधर, नारगंजो स्टेशन पर इसको लेकर स्टेशन प्रबंधन द्वारा प्रचार प्रसार किया जा रहा था। ताकि इसके संक्रमण से बचा जा सके।
इधर, खैरा प्रखंड एवं बाजार सहित ग्रामीण इलाकों में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा।लोग अपने घरों में दुबके रहे। वहीं स्थानीय प्रशासन में पदाधिकारियों के द्वारा कोरोना वायरस के बारे में लाउडस्पीकर के द्वारा प्रचार प्रसार किया गया।लोगों ने खुद को घरों तक सीमित रखा।

वहीं, अलीगंज बाजार में भी प्रधानमंत्री के जनता कर्फ़्यू को समर्थन मिला।  सड़को पर दिनभर पसरा रहा सन्नाटा,  बाजार की सभी दुकाने पूर्णत बंद रही।

इधर, सिमुलतला संवाददाता गणेश सिंह के अनुसार, में कोरोना वायरस से बचाव हेतू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनता कर्फ्यू अपील का पूरे देश के साथ सिमुलतला क्षेत्र सहित ग्रामीण क्षेत्र के लोगों ने भी पुरजोर समर्थन किया। रविवार को कर्फ्यू के दौरान सिमुलतला, लोहिया चौक, कनौदी बाजार, टेलवा बाजार आदि की प्रतिष्ठानें बंद रही।  रेल परिचालन पूरी तरह ठप थी। कर्फ्यू के दौरान पूरे दिन में सिमुलतला स्टेशन पर मात्र 13050 डाउन अमृतसर हावड़ा एक्सप्रेस के अलावे रेल कर्मचारियों के लिए मात्र एक पैसेंजर ट्रेन चलाई गई।  शाम के 5 बजते ही डीजे के साथ शंखनाद एवं मंदिर में घंटी बजाया और इस वायरस से सावधानी बरतते नज़र आए।


जिलेवासियों ने जबरदस्त समर्थन करते हुए इस गंभीर व खतरनाक वायरस से बचाव हेतु अपने घरों में दिनभर दुबके रहे।