Merit Go

Breaking News

गिद्धौर प्रखंड की शिक्षिकाओं ने CM के घेराव का लिया संकल्प

गिद्धौर (न्यूज़ डेस्क) :-

समान-काम समान वेतन को  लेकर शिक्षकों के संघर्ष का सफर अनवरत जारी है। ऐसे में शिक्षिकाओं के कदम भी आगे बढ़ने लगे है। सोमवार को बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष सह जिला प्रभारी आनंद कौशल सिंह के समक्ष  स्थानीय संघ कार्यालय में प्रखंड की महिला शिक्षिकाओं ने भी सीएम के घेराव का संकल्प लिया।
बकाया वेतनादि के भुगतान की मांग को लेकर महीनों से कार्यालय का चक्कर काट रही प्रखंड की महिला शिक्षिकाओं से मुलाकात कर प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह ने बताया कि गिद्धौर के रतनपुर पंचायत में मुख्यमंत्री के संभावित आगमन के दौरान काली पट्टी बांधकर हजारों नियोजित शिक्षकों के द्वारा लोकतांत्रिक तरीके से मुख्यमंत्री के समक्ष घेराव सह धरना-प्रदर्शन आंदोलन किया जायेगा । घेराव की लिखित सूचना जिला प्रशासन, शिक्षा विभाग व मुख्यमंत्री सचिवालय को दे दी गई है। मुख्यमंत्री का घेराव आंदोलन में गिद्धौर सहित जिले भर से बड़ी तादाद में महिला शिक्षिका भी भाग लेंगी । उन्होंने बताया कि घेराव में भाग लेने हेतु दूसरे प्रखंड के हजारों शिक्षक एक दिन पहले ही गिद्धौर में प्रवेश कर जाएंगे । श्री सिंह ने कहा कि पिक एंड चूज कर टारगेट करते हुए प्रताड़ित करने की मंशा से गिद्धौर प्रखंड में 13 साल से लगातार कार्यरत 07 शिक्षिकाओं को बिना सूचना दिए ही 06 माह से वेतन भुगतान नहीं किया जा रहा है ।
संघ के बारंबार आग्रह के बाबजूद भी जिले के नियोजित शिक्षकों के 14 से अधिक स्थानीय समस्याओं का जानबूझकर कर समाधान नहीं किया जा रहा है ।
हाई कोर्ट पटना और शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आर के महाजन का आदेश भी डीईओ कार्यालय जमुई नहीं मान रहा है । इस मौके पर वेतनादि का भुगतान नहीं होने के कारण भुखमरी से जूझ रही कई शिक्षिकाओं ने आक्रोश प्रकट करते हुए कहा कि विभागीय कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार के कारण ही समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है ।
प्रखंड अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण यादव ने स्पष्ट रूप से कहा कि डीईओ कार्यालय के द्वारा मुख्यमंत्री के आगमन से पहले गिद्धौर के 07 शिक्षिकाओं का बकाया वेतनादि का भुगतान किया जाय, सभी नवप्रशिक्षित शिक्षकों को दिसंबर माह के वेतन के साथ प्रशिक्षित का वेतनमान एरियर के साथ भुगतान किया जाय तथा संघ के द्वारा समर्पित किए गए 14 सूत्री मांग-पत्र में अंकित सभी समस्याओं का समाधान किया जाय । उन्होंने कहा कि सभी मांगे पूरी नहीं होने पर प्रदेश अध्यक्ष सह जिला प्रभारी आनंद कौशल सिंह के नेतृत्व में जल जीवन हरयाली यात्रा के दौरान गिद्धौर में माननीय मुख्यमंत्री के समक्ष हजारों नियोजित शिक्षक के द्वारा घेराव सह धरना-प्रदर्शन आंदोलन किया जाएगा ।
इस अवसर पर प्रखंड अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण यादव, कंचन कुमारी, गुलनार प्रवीण, वंदना भारती, बालगोविंद सिंह, नीलोफर नाज, मो. करीम आदि उपस्थित थे ।