Merit Go

Breaking News

गिद्धौर बाजार में सड़क दुर्घटना, मां-बेटी गंभीर रूप से घायल



न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

गिद्धौर बाजार में रविवार की संध्या हुए एक सड़क दुर्घटना में मां और बेटी गंभीर रूप से घायल हो गयी। महिला 35 वर्षीय रूबी देवी व उनकी 7 वर्षीय पुत्री गायत्री कुमारी प्रधानचक की निवासी है। किसी निजी कार्य से गिद्धौर आयी थी।


झाझा से जमुई की ओर जा रही ट्रक के अचानक चपेट में आने से महिला का दाहिना हाथ बुरी तरह से जख्मी हो गया। इनकी पुत्री गायत्री को भी काफी अंदरूनी चोटें आईं है। घटना स्थल से घायलों को गिद्धौर स्थित दिग्विजय सिंह सामूदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया, जहां डॉ. अज़ीमा निशात घायल मां बेटी का प्राथमिक उपचार कर उसके बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल जमुई रेफर दिया। खबर लिखे जाने तक घायलों की स्थिति नाजुक बनी हुई थी।


 - मिलेनियम स्टार फाउंडेशन ने दिखाई मानवता -

दुर्घटना स्थल पर मौजूद सामाजिक संस्था मिलेनियम स्टार फाउंडेशन के बिहार प्रदेश प्रोग्राम कॉर्डिनेटर अक्षय कुमार सिंह ने मानवता का परिचय देते हुए घायलों को अस्पताल पहुंचाने में अपनी सक्रिय भूमिका निभाई। इसके प्रत्यक्षदर्शी स्वयं अस्पताल कर्मी भी बने।



- संस्थापक ने की सराहना-

सामाजिक संस्था मिलेनियम स्टार फाउंडेशन के संस्थापक-सह-अध्यक्ष सुशान्त साईं सुन्दरम ने अक्षय सिंह के इस सक्रिय योगदान की सराहना करते हुए कहा कि एक तरफ जहां मानवता का ह्रास हो रहा है, घटना के बाद मदद के बजाय लोग फोटो -वीडियो बनाने लगते हैं। वहां घायलों को उपचार के लिए तुरन्त अस्पताल तक पहुंचाना, मानव सेवा का पुनीत कार्य है। फाउंडेशन के अक्षय सिंह इसके लिए बधाई और धन्यवाद के पात्र हैं।




- अस्पताल में पसरा था सन्नाटा, चिकित्सक नदारद -

रविवार की संध्या 4:37 में गिद्धौर बाजार में घटित इस घटना के बाद जब अक्षय सिंह के द्वारा 4:49 में त्वरित घायलों को अस्पताल पहुंचाया तब अस्पताल में सन्नाटा पसरा हुआ था अस्पताल के निजी कर्मियों के   अलावे बाकी सब नदारद थे।

- कॉल पर जानकारी के बाद पहुंची चिकित्सिका -

अस्पताल की चिकित्सक डॉ. अज़ीमा निशात अस्पताल में उपलब्ध नहीं थी। कर्मियों द्वारा कॉल पर इसकी जानकारी देने के बाद वो तकरीबन 10 मिनट बाद अस्पताल पहुंची। इस दौरान घायल मां बेटी को दर्द से कराहते देखा गया। हालांकि निजी कर्मियों द्वारा प्राथमिक उपचार की जा रही थी, पर ये  घायलों के लिए नाकाफी थी। फिर डॉ. अज़ीमा के आने पर उनकी स्थिति को देखते हुए सदर अस्पताल जमुई रेफर कर दिया।



- बोले ग्रामीण, अक्सर यही रहता है हाल -

घटना के बाद अस्पताल के बाहर खड़े कुछ स्थानीय ग्रामीणों इस बताया कि गिद्धौर पीएचसी का अकसर यही हाल रहता है। कई बार इमरजेंसी केस आने के बाद ही डॉ. अस्पताल पहूंचते हैं। इसके पहले भी हुए दुर्घटना में एक दो बार ऐसा हुआ है। अस्पताल के बाहर खड़े लोग अस्पताल व यहां के  प्रबंधन के बारे में खड़ी-खोटी भी कह रहे थे।

- गिद्धौर पुलिस ने ट्रक चालक को दबोचा, पूछताछ जारी -

जिस ट्रक से मां बेटी घायल हुए उसके ड्राइवर का नाम राजेश कुमार बताया जा रहा है। चालक को गिद्धौर थानां के अ.नि. बी. के. राय द्वारा अपने गिरफ्त में ले लिया गया है, खबर सम्प्रेषण तक ट्रक चालक से पुलिसिया पूछताछ जारी है।