Merit Go

Breaking News

जमुई : एबीवीपी करेगी के. के. एम. कॉलेज का सौंदर्यीकरण, शैलेश बोले - थक चुके कॉलेज-यूनिवर्सिटी को बोलते-बोलते

जमुई [सुशान्त] : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद नगर इकाई जमुई द्वारा एक बैठक बुधवार को की गई। इसकी अध्यक्षता नगर मंत्री राहुल सिंह ने की।

बैठक में उपस्थित नगर अध्यक्ष शैलेश कुमार ने बताया कि आज की बैठक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जमुई के द्वारा एक बड़ा आंदोलन करने के संबंध में किया गया। के. के. एम. कॉलेज जमुई जिले के सबसे नामी कॉलेज है। लेकिन इसकी दुर्दशा आज सभी के सामने है। इसको नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। कॉलेज को बचाने और बनाने को लेकर ना प्रशासन को, न कॉलेज प्रशासन और ना किसी जनप्रतिनिधि का ध्यान जा रहा है। के.के. एम. कॉलेज अब एक खंडहर बन गया है। इसका भवन किसी भी दिन गिर सकता है। यह चिंता का विषय है।
वहीं मौके पर उपस्थित मुंगेर यूनिवर्सिटी के सीनेट सदस्य शैलेश भारद्वाज ने बताया कि विगत कई वर्षों से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा कॉलेज के सौंदर्यीकरण को लेकर कॉलेज प्रशासन एवं विश्वविद्यालय प्रशासन को ज्ञापन दिया गया। साथ ही कॉलेज की दुर्दशा को लेकर अवगत भी कराया गया। लेकिन कॉलेज प्रशासन के द्वारा कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया गया। इस वजह से हम लोग अब चुप बैठने वाले नहीं हैं। छात्रों के भविष्य को लेकर कॉलेज प्रशासन या बिहार सरकार को अगर थोड़ी सी भी चिंता रहती तो वो ऐसे खंडहरनुमा कॉलेज में पढ़ने के लिए छात्र-छात्राओं को नही छोड़ देते।
शैलेश ने कहा कि किसी भी रूम में न पंखा है, न लाइट है, न किसी भी रूम में खिड़की है और न गेट। दिनोंदिन खंडहर बनता जा रहा कॉलेज भवन कभी भी गिर सकता है। कॉलेज प्रशासन एवं विश्वविद्यालय प्रशासन को ज्ञापन देते-देते अब हम लोग थक चुके हैं। इसको लेकर अब विद्यार्थी परिषद खुद से अपने समाज के लोगों के सहयोग से कॉलेज के सौंदर्यीकरण को लेकर चंदा करेंगे और कॉलेज का सभी रूम मरम्मत करने का काम करेंगे। ताकि कुछ तो बिहार सरकार या कॉलेज प्रशासन को शर्म आए। अगर विश्वविद्यालय प्रशासन को कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों के भविष्य के बारे में चिंता है तो कम से कम उनकी आँख खुले। कॉलेज बिल्डिंग की ऐसी स्थिति में आने वाले दिनों में कभी भी बड़ी घटना घट सकती है।

इस बैठक में प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कुंदन यादव, रतन सिंह, विशाल, आतुषोत राज, शांतनु कुमार, करण कुमार, युवराज कुमार, पप्पू यादव, सिद्धात सिन्हा सहित एबीवीपी के अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।