Breaking News

किसानों ने देखा राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण का लाइव प्रसारण, योजनाओं की मिली जानकारी

बरहट (कुमार विश्वजीत सिंह) :-

बुधवार को कृषि विज्ञान केन्द्र, जमुई  में पशुधान उत्पादन वृद्धि में टीकाकरण, रोग प्रबंधन एवं कृतिम गर्भाधान का महत्व विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया,जिसके उद्घाटनकर्ता बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय पटना के प्रसार शिक्षा निदेशक डॉ ए.के.ठाकुर, बिहार पशु महाविद्यालय के प्रो.डॉ चंद्रशेखर, कृषि विज्ञान केंन्द्र जमुई के प्रमुख डॉ एस. के .सिंह एवं प्रगतिशील किसान राम दिनेश शर्मा जी ने सामूहिक रूप से किया । 


उक्त कार्यक्रम में उपस्थित 200 किसानों को माननीय प्र.मंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुभारम्भ की गयी राष्ट्रिय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का लाइव शो दिखाया गया । बाद में डॉ चंद्रशेखर ने कृत्रिम गर्भाधान पर, मुंहपका खुरपका बीमारी के बारे में डॉ सचिन एवं ब्रुसोलोसिस बीमारी से पशुओ को बचाने के लिए डॉ स्नेहा कुमारी ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से किसानों को जानकारी दी । केंद्र प्रमुख डॉ सुधीर सिंह ने प्र.मंत्री किसान सम्मान निधि योजना की जानकारी देते हुए बताया कि अब जमुई के   किसान भी इस योजना का लाभ ले सकते है, जिसमे 3 किस्तो में किसानों को 6000 रु/वर्ष दिया जा रहा है । जिला पशुपालन अधिकारी डॉ विद्यानंद सिंह ने कहा कि किसान अच्छे नस्ल के पशु उत्पाद के लिए कृत्रिम गर्भाधान हेतु सीधे उन्हें संपर्क कर सकते है । मुख्य अतिथि निदेशक डॉ ए के ठाकुर ने कहा कि संयोग है कि जमुई का कृषि विज्ञान केंन्द्र, अब बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, पटना का अंग है, और विश्वविद्यालय जमुई के किसानों को पशुपालन सम्बंधित विशेष सेवा के लिए कटिबद्ध है ।


 उक्त कार्यक्रम में जिले के सभी प्रखंड स्तरीय पशु चिकित्सक, त्रिवेणी सिंह, दयमंती देवी, मीरा देवी के साथ 200 किसानों के साथ केंन्द्र के सभी वैज्ञानिक एवं कर्मचारियों के साथ  भाग लिया ।धन्यवाद ज्ञापन  केंद्र के वैज्ञानिक डॉ प्रमोद सिंह ने किया ।