Breaking News

ओला ने पटना में पेश की ‘ओला बाइक’



पटना (अनूप नारायण) : यह सर्विस शहर में आखिरी छोर तक सम्पर्क बढ़ाते हुये सस्ती और सुविधाजनक मोबिलिटी को सक्षम बनायेगी

पटना, विश्व के सबसे बड़ी राइड-हेलिंग प्लेटफाॅर्म में से एक ओला ने आज पटना में अपने प्लेटफाॅर्म पर बाइक लाँच करने की घोषणा की। इस कदम से साथ ही पटना ओला बाइस सर्विस वाला बिहार का पहला और भारत का 17वां शहर बन जाएगा। ओला बिहार के सबसे तेज विकास करने वाले शहरों में से एक पटना में सुविधाजनक गतिशीलता का सामथ्र्य प्रदान करते हुए लास्ट माइल कनेक्टिविटी का समाधान कर रहा है।

पिछले कुछ सालों में, पटना विकास की उल्लेखनीय राह पर अग्रसर है और यहां आर्थिक एवं रोजगार संबंधी गतिविधियों में वृद्धि दर्ज की गई है। हालांकि, इसके परिणामस्वरूप, पटना में वाहन प्रदूषण और ट्रैफिक कंजेशन (यातायात संकुलन) भी काफी बढ़ा है। सरकार शहर में परिवहन के लिए बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए मल्टी-मोडल फ्लीट के साथ एक स्मार्ट परिवहन प्रणाली विकसित करने में निवेश कर रही है।

ओला बाइक एक डायनैमिक स्मार्ट मोबिलिटी पेाका है जोकि पटना के लोगों को भीड़-भाड़ वाली सड़कों पर आवाजाही का लगातार और सस्ता साधन उपलब्ध कराने के लिए सरकार के प्रयासों के अनुरूप है। मास मोबिलिटी (जन गतिशीलता) को बढ़ावा देने के लक्ष्य के साथ, ओला बाइक यात्रियों के लिए एक लास्ट-माइल कनेक्टिविटी के रूप में काम करते हुए शहर के परिवहन परितंत्र में भी योगदान करेगा।

संदीप उपाध्याय, बिजनेस हेड-ईस्ट, ओला ने कहा, ‘‘ओला में हम कुशल गतिशीलता समाधान तैयार करने पर फोकस करते हैं जो भारतीय ग्राहकों की विशिष्ट जरूरतों को पूरा करते हैं। ओला बाइक छोटी दूूरी के सफर के लिए उपयोगी और किफायती सेवा होगी। ओला बाइक की शुरुआत होने से न केवल नागरिकों को आवाजाही का नवीनतापूर्ण विकल्प उपलब्ध होगा, बल्कि राज्य में नौकरी की तलाश करने वालों को रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे। इस कदम से हम एक बिलियन लोगों के लिए मोबिलिटी तैयार करने के अपने लक्ष्य के और करीब पहुँच रहे हैं।“

ओला ड्राइवर पार्टनर्स की सुविधा के लिए ओला ऐप अंग्रेजी, हिंदी, बांग्ला, गुजराती, कन्नड़, मराठी, तमिल, तेलुगु सहित 9 भाषाओं में उपलब्ध हैं। अभी ओला पटना में आवाजाही का स्मार्ट साधन उपलब्ध करा रही है, जिसमें ‘प्राइम’, ‘मिनी’, ‘आॅटोरिक्शा’, ‘ओला-शेयर’, ‘ओला रेंटल’, ‘ओला आउटस्टेशन’ और अब नया-नया लागू ‘ओला बाइक’ सम्मिलित हैं।

कैसे काम करती है ओला बाइक?
ओला बाइक ओला ऐप पर अलग श्रेणी के तौर पर दिखाई देता हैं। उपभोक्ता ओला बाइक को उसी तरह बुक करा सकते हैं, जिस तरह वह किसी अन्य कैटेगरी में गाड़ी को बुक कराते हैं। पिक अप लोकेशन के आधार पर नजदीकी ओला बाइक्स को काम सौंपा जाता है। उपभोक्ता ओला के सभी प्रमुख फीचर्स तक पहुंच हासिल कर सकते हैं, जिसमें ड्राइवर पार्टनर डिटेल्स डिस्प्लेड अपफ्रंट, राइड ट्रैकिंग, इन ट्रिप नैविगेशन, एसओएस बटन, ऑफलाइन बुकिंग, ओला मनी का इस्तेमाल कर आसान भुगतान, लोकेशन और मैपिंग इनोवेशंस, जैसे हॉट स्पॉट और शेयर डायरेकंस को भी शामिल है।