Breaking News

दुर्गा पूजा : वैदिक व तांत्रिक रीति के साथ गिद्धौर में निशापूजा-प्राण प्रतिष्ठा संपन्न


Gidhaur.com (दुर्गा पूजा विशेष) : सप्तमी की रात्रि गिद्धौर के करीब सात शताब्दी वर्ष पुराने राज रियासत द्वारा स्थापित दुर्गा मंदिर में ढोल की थाप एवं माता के जयकारे के साथ निशा पूजा एवं प्राण प्रतिष्ठा संपन्न हो गई. आदिकाल से चले आ रहे परम्परा और विधिवत मंत्रोच्चारण के साथ देवघर से आये विद्वान पंडितों ने पूजन कार्यक्रम प्रतिपादित करवाया. जानकारी अनुसार बिहार में केवल दो जगहों पर तांत्रिक रिवाज से माता के पूजा का प्रचलन है, एक गिद्धौर और दूसरा दरभंगा.

पंडितों ने सभी नियम से कलश स्थापित कर देवी का आह्वान करते हुए प्रतिमा में प्राण-प्रतिष्ठा की. प्राण प्रतिष्ठा पूजन के साथ देवी के अस्त्र-शस्त्रों की पूजा की गई. इसके पूर्व देवी को करीब ढाई किलो के वजन वाले रत्नजड़ित मुकुट से सुशोभित किया गया. प्राण-प्रतिष्ठा के दौरान माँ शेरावाली के साथ देवी लक्ष्मी, सरस्वती, भगवान् शिव, कार्तिकेय एवं गणेश का भी आह्वान किया गया.

इस मौके पर स्थानीय पंडित, राज घराने के कुल पुरोहित, पूजा समिति के सदस्यगण, पूर्व मंत्री दामोदर रावत एवं स्थानीय बुद्धिजीवी उपस्थित रहे. अष्टमी के अहले सुबह भक्तजनों के दर्शन के लिए माँ के द्वार खोल दिए जायेंगे.

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें 

(सुशान्त साईं सुन्दरम)
गिद्धौर     |      28/09/2017, बुधवार
www.gidhaur.com