जमुई : डीएम ने हरला में सामुदायिक बायो गैस प्लांट के लिए किया भूमि पूजन

जमुई (Jamui), 26 अक्टूबर : जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह ने केंद्र सरकार की गोबर धन (गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो एग्रो रिसोर्स धन) योजना के तहत जमुई जिले के लक्ष्मीपुर प्रखंड अंतर्गत हरला ग्राम पंचायत के दोनहा गांव में  सामुदायिक बायो गैस प्लांट का भूमि पूजन किया। प्लांट से मिलने वाली गैस से गांव के परिवारों के घर चूल्हे जलेंगे साथ ही उन्हें खेती के लिए जैविक खाद भी मिलेगा। सैकड़ों ग्रामीण भूमि पूजन के साक्ष्य बने। 

  डीएम ने इस अवसर पर जन समूह को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने पशुपालन और जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए गोबर धन योजना की शुरुआत की है। इसके तहत पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत यहां बायो गैस प्लांट लगाया जा रहा है। इस परियोजना के निर्माण हो जाने के बाद हरला ग्राम पंचायत के लोगों के घर में इसी गैस से चूल्हे जलेंगे और उन्हें खेती के लिए उन्नत जैविक खाद मिलेगा।

 प्लांट के लिए रोजाना 10 क्विंटल गोबर की जरूरत होगी जिसे नामित गांव के पशुओं से पूरा किया जाएगा। योजना के दायरे में आने वाले  परिवारों को गैस कनेक्शन के साथ ही गोबर के अनुपात में खाद दी जाएगी। गैस पहुंचाने के लिए हर घर तक लाइन भी बिछाई जाएगी। गैस का इस्तेमाल लोग खाना पकाने के लिए कर सकेंगे। गोबर धन योजना को धरातल पर उतारने के लिए सम्बंधित विभाग यथोचित सहयोग कर रहा है। प्लांट से निकलने वाली सेलरी (खाद) में नाइट्रोजन , फॉस्फोरस और पोटॉस की मात्रा गोबर की तुलना में डेढ़ गुना अधिक होती है। जैविक खेती में सेलरी का प्रयोग करना किसानों के लिए बेहद लाभदायक होगा।

 समाहर्त्ता ने कहा कि बायोगैस प्लांट स्थापित होने के बाद उसके संचालन के लिए मुखिया की अध्यक्षता में कमिटी गठित की जाएगी। घरेलू गैस का उपयोग करने वाले लोग हर महीने तय अंशदान जमा करेंगे। यह अंशदान प्लांट की मरम्मत और अन्य कार्यों में खर्च होगा। उन्होंने ग्रामीणों से इसका भरपूर लाभ लेने की अपील की।

       डीडीसी शशि शेखर चौधरी ने इस अवसर कहा कि हरला ग्राम पंचायत के दोनहा गांव में लगने वाला सामुदायिक बायो गैस प्लांट जमुई जिला का प्रथम और बिहार की दूसरी परियोजना है। इसके पहले यह प्लांट मोतिहारी में लगाया जा चुका है। राज्य स्तर से इस परियोजना को स्वीकृति मिल चुकी है और केंद्र से  बजट भी प्राप्त हो चुका है। 

इस प्लांट को स्थापित करने में 50 लाख रुपये खर्च होंगे। तीन महीने के भीतर इस कार्य को पूरा कर लिया जाएगा।उन्होंने ग्रामीणों से इससे उत्पादित गैस के साथ जैविक खाद का इस्तेमाल किए जाने की अपील की।

      प्रखंड प्रमुख विंदु देवी , बीडीओ प्रभात रंजन , मुखिया कोमल कुमारी , जिला समन्वयक नीरज कुमार समेत कई अधिकारी एवं गणमान्य लोग इस अवसर पर उपस्थित थे। भूमि पूजन समारोह उत्साह और उमंग के वातावरण में संपन्न हो गया।

Post a Comment

Previous Post Next Post