Breaking News

गंगरा : बाबा कोकिलचंद विचार मंच द्वारा किया गया पुस्तक विमोचन सह सम्मान समारोह

गंगरा/गिद्धौर/जमुई (Gangra/Gidhaur/Jamui), 29 जुलाई
◆ रिपोर्ट : शुभम मिश्र (सीनियर एडिटर, gidhaur.com)
जिले के गिद्धौर प्रखंडान्तर्गत गंगरा गांव में शुक्रवार को बाबा कोकिलचंद धाम के प्रांगण में ट्रस्ट के संयोजक चुनचुन कुमार की अध्यक्षता में बाबा कोकिलचंद से संबंधित इतिहास एवं उनके द्वारा निर्देशित त्रिसूत्र से संबंधित पुस्तक का विमोचन एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में जमुई जिले के पूर्व जिलाधिकारी डॉ. कौशल किशोर (भा.प्र.से.) के पिता और राष्ट्र सृजन अभियान, नई दिल्ली के महासचिव एवं बाबा कोकिलचंद विचार मंच मार्गदर्शक मंडल के सदस्य ललितेश्वर कुमार थे। वहीं गिद्धौर थाना प्रभारी ब्रजभूषण सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित थे।
सर्वप्रथम कार्यक्रम में आये हुए आगंतुकों ने बाबा कोकिलचंद के दरबार में अपना-अपना माथा टेका। कार्यक्रम की शुरुआत में अतिथियों को पुष्प माला पहनाकर,अंग वस्त्र एवं गुलदस्ते भेंटकर सम्मानित किया गया।

मुख्य अतिथि ललितेश्वर कुमार ने बाबा कोकिलचंद की महिमा मंडित करते हुए उनके आदर्शों को अपने जीवन में उतारने एवं मंदिर निर्माण में सहयोग करने की लोगों से अपील की। साथ ही यहां आना सौभाग्य की बात कही, लोगों को इस गांव की सभ्यता से सिखने को कहा।
उन्होंने बताया कि बिहार का यह एक ऐसा गांव है जहां के लोग सदियों से शराब एवं किसी भी प्रकार का नशा का सेवन नहीं करते हैं। बाबा कोकिलचंद का त्रिसूत्र संदेश आज भी यहां प्रासंगिक है। यहां बाबा कोकिलचंद के वचन स्वरूप आज भी स्त्रियों के सम्मान, अन्न की रक्षा एवं नशामुक्त रहने का वचन निभाया जा रहा है।

सरकार से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि इस गांव को सरकार द्वारा गोद लेने की आवश्यकता है। इस गांव को आदर्श गांव घोषित करना चाहिए। वहीं गिद्धौर थानाध्यक्ष ब्रजभूषण सिंह ने कहा कि पूरा गंगरा गांव एक धाम है। यहां की सभ्यता, संस्कृति एवं संस्कार लोगों के लिए प्रेरणादायक हैं।
कार्यक्रम के अंत में आयोजक द्वारा अतिथियों को बाबा कोकिलचंद से संबंधित पुस्तक भेंट की गयी एवं मंदिर की पुष्पवाटिका में पौधारोपण किया गया। इस कार्यक्रम को संबोधित करने वालों में प्रधानाध्यापक श्रीकृष्ण सिंह, समाजसेवी गौरव सिंह राठौड़, विजय पाण्डेय, उमाशंकर सिंह, अरविंद सिंह, गोपाल सिंह, बिट्टू शर्मा ने भी अपनी बातें रखी।

उक्त अवसर पर नीरज सिंह, चंदन कुमार, रोहित कुमार, पवन कुमार, मुकेश सिंह, राजेश कुमार, निरंजन कुमार, गुड्डु कुमार, धीरज कुमार, सुधीर सिंह, गुंजन कुमार, निलेश कुमार सहित दर्जनों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।