Breaking News

जमुई : मानसिक रोगी था पति तो ससुर ने देवर के साथ संबंध बनाने के लिए किया मजबूर

खैरा/जमुई (Khaira/Jamui), 15 जुलाई
★ प्रह्लाद की रिपोर्ट :
जमुई जिलान्तर्गत खैरा थाना क्षेत्र के एक गांव में मानसिक रूप से विक्षिप्त एक युवक की पत्नी को उसके ही ससुर ने जबरन देवर के साथ संबंध बनाने के लिए मजबूर किया. देवर इस दौरान लगातार शादी का झांसा देकर उसका यौन शोषण और उत्पीड़न करता रहा. अपने ससुराल पक्ष के लोगों के चंगुल से छूट कर बच निकली पीड़िता ने खैरा थाना में आवेदन देकर कार्रवाई की गुहार लगाई है.

इस बाबत पीड़िता ने बताया कि मेरी शादी 6 साल पूर्व उक्त गांव निवासी याकूब अंसारी के पुत्र युसूफ अंसारी से हुई थी. शादी के बाद मुझे पता चला कि मेरे पति मानसिक रूप से विक्षिप्त हैं. मैं अनाथ थी, जिस कारण मुझे झांसा देकर एक मानसिक विक्षिप्त युवक के साथ शादी करा दी गई. 
उसने आगे बताया कि जब मैंने इसकी शिकायत अपने सास-ससुर तथा परिवार के अन्य सदस्यों से की तब उन लोगों ने मुझे समझाने बुझाने का प्रयास किया और कहा कि जल्दी ही हम इसका रास्ता निकाल लेंगे. काफी कहने के बाद भी जब कोई बात नहीं बनी तब मैं रोने लगी. पूरी रात रोने के कारण मेरे सर में दर्द हो गया और मैंने अपने ससुर से कहा कि मेरे सर में दर्द हो रहा है.

पीड़िता ने बताया कि सर दर्द की बात कहने के बाद मेरे ससुर ने मेरे देवर नौशाद अंसारी को सर दर्द की दवा लाने को कहा. उनके द्वारा दी गई दवाई जब मैंने खाई, तब थोड़ी ही देर के बाद मैं बेहोश हो गई. जब मैं दोबारा होश में आई तब मैंने देखा कि मैं अपने देवर के बिस्तर में थी. जिसके बाद में सारा माजरा समझ गई.

उसने बताया कि मैंने अपने ससुर और अन्य लोगों से जब इसकी शिकायत की तब उन्होंने कहा कि चिंता करने की कोई बात नहीं है. कुछ दिनों के बाद हम तुम्हारी शादी तुम्हारे देवर से करा देंगे. अलग जमीन और अलग घर देकर तुम लोग अपना गुजर-बसर करना.

पीड़िता ने बताया कि यह सुनकर मैं भी उनकी बातों में आ गई और उनके कहे अनुसार रहने लगी. लेकिन काफी महीना बीत जाने के बाद भी जब लोगों के द्वारा मेरी शादी की कोई पहल नहीं की गई तो मैंने फिर उनसे बात की, जिसके बाद मुझे पता चला कि उन लोगों ने मेरे साथ धोखा किया है.
उसने बताया कि इसकी सूचना मैंने अन्य ग्रामीणों को दी तथा गांव में इसे लेकर पंचायत भी कराई गई. पंचायत ने मेरे पक्ष में फैसला सुनाया पर मेरे ससुराल पक्ष के लोगों ने उस को नहीं माना. मैं किसी तरह उनके चंगुल से छूटकर थाना पहुंची हूं. 

मामले को लेकर महिला ने कानूनी कार्रवाई करने की गुहार लगाई है. इस बाबत थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान ने बताया कि आवेदन के आलोक में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है तथा पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.