गिद्धौर : बाबा बूढ़ानाथ मंदिर में जमा गंदे नाले का पानी, आस्था पर लग रहा ग्रहण

 


Gidhaur / गिद्धौर ( धनञ्जय कुमार 'आमोद') :- गिद्धौर बाजार स्थित ऐतिहासिक बाबा बूढ़ानाथ मंदिर परिसर में इन दिनों बह रहे नाले के पानी से डूबा हुआ है। जिससे श्रावण माह में बाबा बूढ़ानाथ मंदिर में पूजा करने आने वाले भक्त को घोर दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, इसकी सुधि लेने वाला कोई नही। 

बताया जाता है कि मंदिर के चारदीवारी को तोड़ कर आस पास के असामाजिक तत्वों द्वारा मंदिर परिसर के जमीन पर अतिक्रमण किया जा रहा है। इसके साथ ही अपने-अपने घरों के नाले का गंदा पानी मंदिर परिसर में बहाया जा रहा है। और तो और हो रहे बारिश के कारण मंदिर परिसर पर अतिक्रमण के कारण बुधवार को हुए बारिश से समूचा मंदिर परिसर गंदे नाले के पानी मे डूबा हुआ पाया गया। बात यहीं खत्म नहीं होती, ताज्जुब की बात यह कि इलाके भर में प्रसिद्धि प्राप्त यह ऐतिहासिक मंदिर की दुर्दशा पर पंचायत प्रतिनिधि व स्थानीय प्रशाशनिक महकमा भी चुप्पी साधे है, जबकि चल रहे श्रावण मास में इलाके भर के लोग सोमवार को बाबा बूढ़ा नाथ मंदिर जलाभिषेक करने आते है।

यहां गौर करने वाली बात यह है कि कोरोना संक्रमण काल में लोग जंहा साफ सुथरे वातावरण में रहना पसंद कर रहे तो वहीं, दूसरी ओर बूढानाथ मंदिर गिद्धौर परिसर को इस बहते नाले के पानी के बीच ही छोड़ दिया गया है, इससे न सिर्फ भक्तों के आस्था पर ग्रहण लग रहा है, बल्कि संक्रमण का भी भय बना है। 

खैर जो भी हो पर फिलहाल , प्रखंड वासियों का दुख हरने वाले बाबा बूढ़ानाथ अभी खुद ही नाले के जमे पानी से उत्पन्न हो रहे सङ्गन्ध में कैद हो कर रह गए है। 



Edited by : Abhishek Kr. Jha



#Gidhaur, #Problem, #GidhaurDotCom


 

Post a Comment

Previous Post Next Post