बड़ी खबरें

जमुई-खैरा मुख्य मार्ग पर किसानों ने दिया धरना, नहीं पहुंचे अधिकारी

 


 खैरा/जमुई (Khaira/Jamui) :- देशभर में किसानों को लेकर छिड़े आंदोलन की बयार अब जमुई में भी बहने लगी है। ऐसे में सोमवार को खैरा प्रखंड के दर्जनों किसानों ने खैरा- जमुई मुख्य मार्ग स्थित हाई स्कूल के समीप अपनी 10 सूत्री मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन किया। 

धरना प्रदर्शन कार्यक्रम की अध्यक्षता अमारी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि दिनेश कुमार ने की। धरना प्रदर्शन के कारण सड़क के दोनों और वाहनों की लंबी कतार लग गई, जिससे यात्रियों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ा । किसानों का कहना है कि केंद्र सरकार दिल्ली के किसानों के साथ काफी अन्याय कर रही है , किसानों पर लाठी चार्ज कर रही हैं। वहीं , सरकार ने धान की जो निर्धारित मूल्य तय की है, उसी मूल पर व्यापारियों को भी खरीदना पड़े या किसान जहां चाहे, वहां भेज सकता है लेकिन उसे ₹1868 प्रति क्विंटल मिलना चाहिए। किसान को धान बेचते समय किसी भी प्रकार का कोई रशीद या एलपीसी नहीं लिया जाए। जन वितरण प्रणाली की दुकान में जब गेहूं ₹2 प्रति किलो चावल ₹3 प्रति किलो लिखा हुआ है तो फिर गेहूं ₹4 एवं चावल ₹6 की दर से विक्रेता क्यों ले रहे हैं? इसे अविलंब बंद करना चाहिए। जन वितरण प्रणाली में लाभुकों को रसीद देने की सुविधा अर्थात केस मेमो देने की सुविधा होना चाहिए, उन्होंने कहा कि जब पड़ोसी राज्य झारखंड में जहां जन वितरण प्रणाली दुकान में उसना चावल दिया जा रहा है और बिहार में अरवा चावल क्यों दिया जा रहा है। जबकि सरकार जानती है कि बिहार के लोग उसना चावल खाते हैं। इसलिए जन वितरण प्रणाली दुकान में उसना चावल देना चाहिेए। धरना प्रदर्शन स्थल पर वरीय पदाधिकारियों को नहीं पहुंचने से गुस्साए ग्रामीणों ने सड़क जाम कर सरकार के विरोध जमकर नारेबाजी की। वहीं , सड़क जाम की सूचना पाकर खैरा थाना पुलिस पहुंचकर जाम स्थल पर मौजूद किसानों को समझाने का प्रयास किया पर किसान अपनी मांगों पर अडे़ रहे । धरना स्थल पर बैठे किसान राजो राम, रूपा सिंह , चरित्र राम, फाल्गुनी देवी , शिव किशोर यादव ठाकुर , विनोद यादव ,बबलू यादव , सुरेंद्र यादव, राजकिशोर यादव सहित दर्जनों किसान मौजूद थे।


Edited by : Abhishek Kr. Jha


#Khaira, #KisanAndolan, #GidhaurDotCom



No comments