बड़ी खबरें

मौरा : कुएं के पानी से बुझती थी प्यास तो बोरिंग के लिए दान में दी जमीन, मुखिया ने सराहा



[ News Desk | अभिषेक कुमार झा ] :-

 प्रखंड के मौरा पंचायत वार्ड 2 के लोगो को शुद्ध पेयजल मिल सके , इसके लिए एक निम्नवर्गीय परिवार ने अपनी जमीन दान दी है। बताया जाता है कि मौरा वार्ड 2 में जमीन उपलब्ध नहीं होने के कारण यहाँ आज तक बोरिंग नहीं हो पाया था, जिससे स्थानीय ग्रमीणों में शुद्ध पेयजल की समस्या बनी रहती थी। वहीं, इस समस्या को लेकर निम्नवर्गीय परिवार से सम्बन्ध रखने वाले वार्ड नं. 2 निवासी छठू मांझी के पुत्र गब्बर मांझी ने अपनी जमीन ( खाता नं. 66  खसरा नं. 394 )  पीएचइडी विभाग को दान दे दिया। इसके पहल पर वार्ड 2 में बोरिंग के लिए समस्या का निदान होते ही पीएचईडी विभाग की तरफ से बोरिंग कार्य जारी है। इसकी मोनिटरिंग ग्राम पंचायत राज मौरा के मुखिया कान्ता प्रसाद कर रहे हैं।
बता दें, वार्ड 2 में पिछले कई वर्षों से पानी की किल्लत थी । एक कुएं के भरोसे ही लगभग 500 के आबादी की प्यास बुझती थी, गर्मी के दिनों में पेयजल समस्या और गहरा जाता था, जिससे ग्रामीण त्रस्त थे। इनकी परेशानी को देखते हुएे निम्नवर्गीय परिवार के श्री मांझी आगे आये और जमीन विभाग को दान दे दी, इसपर मुखिया ने श्री मांझी की सराहना करते हुए बताया कि इनके परिवार में 5 सदस्य हैं। जो बेहद गरीब हैं और मेहनत मजदूरी कर गुजारा कर रहे हैं। बावजूद इसके समर्पित होकर जो भाव इन्होंने दिखाया वो अपने आप मे उदाहरण है। मुखिया श्री सिंह ने  पीएचईडी विभाग व प्रखंड विकास पदाधिकारी से जमीन दाता को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से इस बोरिंग पम्प पर ऑपरेटर के रूप में बहाल करने व अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ देने का आश्वासन दिया।
इधर, वार्ड 2 में चल रहे पेयजल के लिए बोरिंग के कार्य को लेकर ग्रामीण उत्साहित हैं।

Input : संजीवन कुमार सिंह

No comments