बड़ी खबरें

लॉक डाउन पार्ट-2 में गरीबों की जरूरतों को प्राथमिकता में रखे सरकार : धर्मेन्द्र पासवान

अलीगंज (चन्द्र शेखर सिंह) :- देश में कोरोना वायरस ने तबाही ला दिया है। और इस महामारी से बचाव एक मातर विकल्प सतर्कता व एकान्त वास है और सरकार ने लाकॅडाउन की घोषणा कर दी है। समाजसेवी सह कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र पासवान ने कहा कि  लाकॅडाउन में चाय,पान ,फुटपाथी दुकानदारों की आमदनी पर अचानक ब्रेक लग गया।उन्होंने  बताया कि गरीब लोगों ने किसी तरह 21 दिन का लाकॅडाउन तो पालन कर लिया। लेकिन अब 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। अब गरीबों के बीच विकट समस्या उतपन्न हो गयी है।और खाने को लाले पडने लगें हैं। उन्होंने कहा कि बिहार राज्य के लोग बड़ी संख्या में दुसरे प्रदेशों में लाकॅडाउन में फंसे है। उन प्रवासी मजदूरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।बिहार के खासकर जमुई जिले सैकड़ो मजदूर सुरत, गुजरात, चंडीगढ़ में फंसे है।उन लोगों को खाने के लिए काफी मुश्किल हो रहा है।उन्होंने कहा कि देश के पीएम उन प्रवासी मजदूरों के लिए व्यवस्था करें नही तो गरीब मजदुर व चाय, पान , फुटपाथी दुकानदार भूखे मर जाएंगे। उन्होंने केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार से इस विकट परिस्थिति में फंसे लोगों पर विचार कर उन्हे राशन मुहैया कराये सरकार।उन्होंने  कहा कि लाकॅडाउन में गरीब निसहाय व मजदूरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।और उन लोगो की माली हालत तो खराब है ही और  लाकॅडाउन में भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है।