बड़ी खबरें

गिद्धौर : कोरोना के डर से घरों में मना चैती छठ, लोककल्याण की कामना के साथ पड़ा अर्घ्य

गिद्धौर/जमुई [सुशान्त] : विश्व भर में कोरोनावायरस की त्रासदी के बीच जन आस्था का पर्व चैती छठ उल्लास पूर्वक मनाया गया। कोरोना को लेकर देशभर में लगे लॉक डाउन की वजह से पहली बार गिद्धौर में लोगों ने अपने घरों के छतों और आंगन में भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया।

कोरोनावायरस से बचाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर देशभर में लॉक डाउन लगाया गया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने स्वयं भी सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) बनाने का आग्रह सभी देशवासियों से किया था। इसके मद्देनजर रविवार को दिन में ही स्थानीय प्रशासन द्वारा लाउडस्पीकर के माध्यम से सभी निवासियों को छठ घाटों पर जाने की बजाय अपने अपने घरों में ही छठ मनाने का आग्रह किया गया था। जिसका पालन करते हुए सभी ने अपने घरों में ही छठ का त्यौहार मनाया। व्रतियों ने लोक कल्याण एवं जनकल्याण की मनोकामना के साथ छठी मैया एवं भगवान सूर्यदेव को अर्घ्य अर्पण किया।
यह पहली बार हुआ जब गिद्धौर वासियों ने अपने घरों में यह त्यौहार मनाया। वर्षों से लोग चैती छठ एवं कार्तिक मास के छठ को गिद्धौर के उलाई नदी के अलग-अलग छठ घाटों पर मनाते आए हैं। अब सोमवार की सुबह उदयीमान सूर्य को अर्घ्य के साथ चैती छठ का त्यौहार संपन्न हो जाएगा।