बड़ी खबरें

कोरोना से लॉक डाउन! सौभाग्य है परिवार के साथ वक़्त बिताना, घर में रहेंगे तभी बचेंगे

विशेष | अपराजिता : 
अभी पूरे विश्व का माहौल बिगड़ चुका है, हालात बहुत खराब है। सभी लोग यही सोच रहे हैं कि कोरोना वायरस हमें ना हो जाए। यह कहां से आ गया, कैसे आ गया? सभी रात दिन सिर्फ नाकारात्मक बातों को ही ध्यान में ला रहे हैं। लेकिन यहां सबसे पॉजिटिव बात यह है कि हम सभी को पता है कि इस बीमारी से बचने के लिए क्या सावधानियां बरती जाए।

कोरोना वायरस जितने कम मानव शरीर के संपर्क में आएगा उतना इसकी चेन टूटती जाएगी। यदि यह मानव शरीर के संपर्क में 8 से 12 घंटे तक नहीं आ रहा है तो यह स्वयं ही मर जा रहा है। यदि हम अपने-अपने घर के अंदर रहेंगे तो पूरा भारत खुद ही सैनिटाइज हो जाएगा। इसलिए कृपया आप लोग अपने घर से नहीं निकले। चाहे कितना भी इमरजेंसी काम क्यों ना हो अपने घर में रहें और अपनों के साथ रहें। 

हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी कल (24 मार्च) रात ही 8 बजे देश को संबोधित करते हुए कह चुके हैं कि "आने वाले 21 दिनों तक भारत के सभी राज्यों में लॉक डाउन रहेगा और इसे कर्फ्यू ही समझें।" तो प्लीज आप लोग समझ लें। घर में रहिए और स्वस्थ रहिए। बचकाना हरकत नहीं कीजिए। हम सभी को शायद पहली बार अपने-अपने परिवार के साथ इतने लंबे समय तक रहने का मौका मिला है तो इसे सकारात्मक तरीके से सोंचे और घर में रहें। घर की साफ-सफाई  करें, जिन्हें जिस चीज में जो रुचि है घर बैठे वह काम करें लेकिन बाहर ना निकलें। प्लीज बाहर ना जाएँ। न ही किसी मेहमान को अपने घर आने दें और ना आप किसी के घर मेहमान बनकर जाएं।

इस बीमारी के बारे में पढ़े-लिखे लोगों की भी मानसिकता है कि सिर्फ कोरोना के पॉजिटिव मरीजों से ही दूरी बनाना है बाकी लोग सामान्य तरीके से रह सकते हैं। इस भ्रम को तोड़िए। कहां हैं आप? किस दुनिया में जी रहे हैं? अभी भी समझ में नहीं आ रहा है तो कोरोना वायरस से बचाव के संदर्भ में डब्ल्यू एच ओ द्वारा बताए गए निर्देशों को पढ़ें और समझें। 

न्यूज़ चैनल पर देखें कि यह वायरस कितना भयावह है। इस वायरस से बचने का सिर्फ एक ही उपाय है आप सोशल गैदरिंग से बचें। अपने-अपने घर में रहें। इस लाइन को मैंने कई बार जानबूझकर रिपीट किया है, क्योंकि अभी भी बहुत से लोग इसे हल्के में ले रहे हैं। कृपया ऐसा ना करें इस बीमारी से बचने के बारे में ज्यादा से ज्यादा विचार मन में लाएं। ईश्वर का नाम लें। लोगों से डिस्टेंस मेंटेन करें।

अभी किसी एक व्यक्ति पर संकट नहीं आया है पूरी मानवता पर संकट आया है। इसलिए कृपया सभी एकजुट होकर इस स्थिति का सामना करें। यह संकट अवश्य समाप्त होगा। घर से बाहर निकला भी जाता है इस बात को अपने मन से निकाल दें। एक्सपर्ट के अनुसार, कोरोना के लक्षण तुरंत दिखाई नहीं देते। शुरुआत में व्यक्ति बिल्कुल स्वस्थ रहता है।

WHO (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) बताती है कि इस महामारी से संक्रमित एक व्यक्ति सिर्फ 1 हफ्ते में सैकड़ों लोगों तक इस बीमारी को फैला सकता है। इसे पहले एक लाख पहुंचने में 67 दिन लगे फिर सिर्फ 11 दिन में यह वायरस 2 लाख लोगों तक पहुंच गया। इसके बाद मात्र 4 दिनों में यह महामारी 3 लाख लोगों तक पहुंच गई। इसे रोकना हम लोगों के ही हाथ में है। इसे रोकने के लिए आपको पैसे नहीं लग रहे हैं सिर्फ आपको और आपके परिवार को घर के अंदर रहना है। हम लोगों को अपने घर वालों के साथ रहकर समय बिताने का समय मिला है।

यह समय है पूरी दुनिया के लिए प्रार्थना करने का और पूरी दुनिया को शुभकामनाएं भेजने का। आज से आप अपने लिए, अपने परिवार के लिए, साथ ही अपने रिश्तेदारों के लिए, और अपने आस-पड़ोस के लिए तथा पूरे भारत और पूरे विश्व के लिए ईश्वर से आशीर्वाद मांगिए और सभी के स्वास्थ्य की कामना कीजिए। जय हिंद जय भारत।

इस कंटेंट को बिना अनुमति कॉपी करना या अन्यत्र प्रसारण या प्रकाशन करना मना है। कंटेट से संबंधित सर्वाधिकार आलेख लिखने वाले के पास सुरक्षित है।