बड़ी खबरें

कोरोना वायरस से लड़ने में सरकार का साथ देंगे शिक्षक, महासम्मेलन स्थगित

◆ प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह बोले - 'बिहार बचाओ -शिक्षा बचाओ' महासम्मेलन रहेगी स्थगित

(न्यूज़ डेस्क/अभिषेक) : - सूबे के 05 लाख हड़ताली शिक्षक भी कोरोना से लड़ने में बिहार सरकार को तन-मन-धन से मदद करने को तैयार है। लेकिन शिक्षकों की हड़ताल भी सभी मांगें पूरी होने तक पहले की तरह ही जारी रहेगी।
आनन्द कौशल सिंह, प्रदेश अध्यक्ष

उक्त बातें, बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के प्रदेश अध्यक्ष मंडल के सदस्य आनंद कौशल सिंह ने रविवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा। उन्होने अपने विज्ञप्ति में कहा है कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए देश से लेकर विदेश तक युद्धस्तर पर प्रयास जारी है। इसलिए हड़ताली शिक्षक 31 मार्च तक कोरोना से बिहार के आम-आवाम की रक्षा के लिए अब वार्ड स्तर पर लोगों के बीच जाकर जागरूकता अभियान चलाएंगे। इस बीच हड़ताली शिक्षकों का प्रखंड स्तर 27 दिनों से जारी धरना कार्यक्रम 31 मार्च तक स्थगित रहेगा । धरना पर बैठने के बजाय शिक्षक आम लोगों और करोड़ों छात्र-छात्राओं के बीच जाकर कोरोना वायरस से बचाव का तरीका की जानकारी देंगें ।
बैठक में भाग लेते शिक्षक
प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनियां अलर्ट पर है। इसलिए शिक्षक अपनी जान की परवाह किए बिना ही कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सरकार का हर कदम साथ देने के लिए तैयार है।
उन्होंने कहा कि 14 मार्च को समन्वय समिति की आपात राज्य स्तरीय बैठक में 28 शिक्षक संगठन ने सर्वसम्मति से पटना के गांधी मैदान में 23 मार्च को होने वाले 'बिहार बचाओ -शिक्षा बचाओ' महासम्मेलन  कोरोना वायरस के कारण तत्काल स्थगित करते हुए इसे अगले महीने करने का निर्णय लिया है।
प्रदेश अध्यक्ष ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। केवल सजगता, सावधानी और स्वच्छता जरूरी है। विशेषज्ञों के सुझावों को मान कर और इससे जुड़ी सही जानकारी आपस में साझा कर हम कोरोना को परास्त कर सकते हैं।