बड़ी खबरें

जमुई : बकाये वेतन के आस में बेरंग हुई शिक्षकों की होली, पुतला दहन आज

जमुई (न्यूज़ डेस्क):- समान काम समान वेतन सहित अन्य 7 सूत्री मांगों को लेकर बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के राज्य स्तरीय बैठक में भाग लेकर रविवार को शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनन्द कौशल सिंह पटना से लौटे।

इस क्रम में पत्रकारों से जानकारी साझा करते हुए  उन्होने बताया कि बिहार सरकार के हिटलरशाही रवैया , दमनकारी नीति और होली जैसे महापर्व पर भी जनवरी माह का वेतन 5 लाख शिक्षकों को नहीं देने के विरोध में सूबे के 5 लाख शिक्षक इस वर्ष होली का त्योहार नहीं मनाएंगे। इसके आलावे आज राज्य और देश के सामने शिक्षक संघ अपनी वेदना प्रदर्शित करेंगें ।
 प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के इशारे पर शिक्षा मंत्री व अपर मुख्य सचिव आर के महाजन ने नियम-कानून को ताक पर रख पर 5 लाख नियोजित शिक्षकों को कार्य अवधि (01 जनवरी से लेकर 16 फरवरी)  का वेतन भुगतान नहीं किया है। इसलिए मुख्यमंत्री के इस हिटलर शाही के विरोध में 9 मार्च को होलिका दहन के दिन लाखों हड़ताली शिक्षकों के द्वारा सूबे के सभी 534 प्रखंड में बिहार सरकार के मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री और आर के महाजन का पुतला दहन किया जाएगा ।
उन्होनें कहा कि बिहार सरकार के शिक्षा व शिक्षक विरोधी नीति के खिलाफ एवं शिक्षक अपनी सात सूत्री मांगों के समर्थन में 17 फरवरी 2020 से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर हैं, परंतु हड़ताल के 21 वें दिन तक भी सरकार के द्वारा वार्ता की कोई पहल नहीं किया जाना मुख्यमंत्री के हठधर्मिता और तानाशाही रवैया को प्रदर्शित करता है, जो निंदनीय है । उन्होंने कहा सरकार ने शिक्षा अधिकार का कानून खुद ही बिहार में लागू किया है । लेकिन एक दशक के बाद भी सरकार अपने आरटीई कानून के मुताबिक सभी शिक्षकों को एक जैसा वेतनमान, सभी सरकारी विद्यायल में 30 छात्रों के लिए एक वर्गकक्ष और एक शिक्षक की व्यवस्था नहीं कर सकी है । इसलिए ही बिहार के लाखों-लाख शिक्षक सरकार से आरटीई कानून का पालन करवाने के लिए 17 फरवरी से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गए है । आनंद कौशल ने कहा कि सरकार अगर शीघ्र शिक्षकों के सात सूत्री मांगों को पूरा नहीं करेगी तो इस महा हड़ताल को जारी रखते हुए लाखों -लाख शिक्षक राजधानी की सड़कों पर उतरकर हल्ला बोल आंदोलन प्रारंभ कर देंगें और देश -दुनियां के सामने नीतीश सरकार के शिक्षा विरोधी चेहरा को उजागर करने का काम करेंगें ।
 इस अवसर पर समन्वय समिति जिलाध्यक्ष मंडल के सदस्य रवि कुमार यादव, महेश शर्मा, संतोष कुमार आदि उपस्थित थे ।