Header Ad

header ads

सिमुलतला SSB जवानों ने ग्रामीणों को दुर्गम पहाड़ पर दिया जल का तोहफा


सिमुलतला (गणेश कुमार सिंह):- सिमुलतला थाना क्षेत्र के घोरपरण जंगल के बीहड़ में बसा डहुआ गांव में शनिवार को 16वीं बी एसएसबी सिमुलतला द्वारा बोर वेल करवाकर स्वच्छ जल का तोहफा दिया गया।

इस गांव तक पहुंचने के लिए कठिन डगर, कच्ची उखाड़ खाबड़ पगडंडी एक मात्र रास्ता है, जिसके बीच मे दो छोटी छोटी नदिया है। इस गांव में लगभग 400 की जनसंख्या निवास करती है, जो झाझा सिमुलतला मुख्य सड़क से लगभग 7 किलोमीटर की दूरी पर घनघोर जंगल और पहाड़ के बीच मे बसा हुआ है। गाँव पहुंचने के दौरान बोरवेल गाड़ी नदी के रेत में फंस गई, जहाँ एसएसबी के जवान और ग्रामीण कि मदद से बाहर निकलकर किसी प्रकार बोर वेल की गाड़ी गांव तक पहुंच पाई, जबकि एसएसबी का स्कार्पियो को मुख्य सड़क से ही लौटना पड़ा।


गांव के लोग मुख्य रूप से पशु पालन व जंगली पत्तो को पत्तल बनाकर जीवन यापन करता है। यहाँ पेयजल की भारी किल्लत है जहां पेयजल का एक मात्र साधन पहाड़ की तराइयों से रिसाव होने वाली जल ही है जो पूरे गाँव के लगभग 400 लोगों के कंठ के प्यास को बुझती है।


सिमुलतला थानाध्यक्ष बीरभद्र सिंह, एसएसबी के सहायक कमांडेंट अजित कुमार, मुखिया बालदेव यादव, सरपंच नुकुल यादव ने सम्मलित रूप से भूमिपूजन कर बोरिंग का शुभारंभ किया। सिमुलतला एसएसबी के सहायक कमांडेंट अजित कुमार ने बताया कि इस गांव में पिछले वर्ष सिमुलतला एसएसबी के तरफ से गांव में एक चापाकल लगवाया गया है। यह दूसरा चापाकल भी एसएसबी के तरफ से ही दिया गया, एवं दूर दूर में बसे इस गांव के तीसरे हिस्से में अगले वर्ष एक और चापाकल देकर गाँव की पेयजल की समस्या को दूर किया जाएगा।


 इस सराहनीय व अतुलनीय जीवनदानी जल की सौगात देकर देवतुल्य एसएसबी के कार्य की सराहना करते हुए ग्रामीण ,जनप्रतिनिधि व थानाध्यक्ष ने धन्यवाद दिया। इस दौरान खुरण्डा पंचायत के मुखिया पति बालदेव यादव, खुरण्डा सरपंच नुकुल यादव, दर्जनों एसएसबी के जवान, ग्रामीण रामदेव पुझार, लखन सोरेन,भिठल पुझार,झगरू पुझार,सुरेश पुझार,ननकेशर पुझार सहित दर्जनों ग्रामीण मौके पर मौजूद थे।